News-web

उत्तराखंड के नौ नगर निकायों में फिलहाल नहीं होंगे चुनाव, जानिए क्या है इसका कारण

Published on:

राज्य में लोकसभा के बाद अब निकाय चुनाव की तैयारी भी जोरों शोरों पर की जा रही है। इसी बीच 102 निकायों में से 9 निकाय ऐसे हैं जहां चुनाव नहीं होंगे। इसमें दो निकायों की देरी तो पहले से चल रही है लेकिन चार निकायों में परिसीमन ना होने की वजह से चुनाव नहीं होंगे। राज्य निर्वाचन आयोग ने अब 93 निकायों में चुनाव की तैयारी तेज कर दी है।

तीन निकाय ऐसे, जिनमें बर्फबारी क्षेत्र का रोड़ा

राज्य के तीन निकाय ऐसे हैं जहां बर्फबारी होने की वजह से निकाय चुनाव नहीं होते। चमोली जिले में नगर पंचायत बद्रीनाथ, रुद्रप्रयाग जिले में नगर पंचायत केदारनाथ और उत्तरकाशी जिले में नगर पंचायत गंगोत्री में इस बार चुनाव नहीं होंगे। यहां यह तीन धाम है जिनमें हर साल लाखों श्रद्धालु भी आते हैं। यह तीनों निकाय प्रशासनिक व्यवस्था के व्यवस्था के तहत संचालित होते हैं।

इन निकायों में परिसीमन का मामला

नगर निगम रुड़की और नगर पालिका परिषद बाजपुर में पूर्व में परिसीमन संबंधी विवाद, हाईकोर्ट के आदेश के बाद देरी से चुनाव हुआ था। निर्वाचन आयोग का कहना है कि यहां कार्यकाल पूरा न होने से फिलहाल निकाय चुनाव नहीं हो सकते हैं। वहीं, नगर पालिका हर्बटपुर, नगर पालिका नरेंद्र नगर और नगर पंचायत कीर्तिनगर में भी अभी तक परिसीमन ही नहीं हो पाया है।

किस जिले में कितने हैं निकाय
जिला       नगर निगम   नगर पालिका नगर पंचायत
अल्मोड़ा      00             02                03
बागेश्वर        00             01                02
चमोली        00             04                06
चंपावत        00             03                01
देहरादून।    02            04                 01
हरिद्वार       02              03                  09
नैनीताल    01              04                  01
पौड़ी।       02              02                  03
पिथौरागढ़ 00              05                  00
रुद्रप्रयाग    00              01                  04
टिहरी।       00             05                   06
ऊधमसिंह नगर 02      08                   08
उत्तरकाशी।   00          03                   03
कुल            09            45                     48
(इनमें से एक नगर निगम, चार नगर पालिका, चार नगर पंचायत में चुनाव नहीं होगा)

नगर पंचायत बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री में हिमाच्छादित प्रदेश होने के नाते निकाय चुनाव नहीं होते। बाकी छह निकायों में से रुड़की, बाजपुर का कार्यकाल अभी पूरा नहीं हुआ। बाकी में परिसीमन की रिपोर्ट आयोग को प्राप्त नहीं हुई है।