shishu-mandir

वनाग्नि जागरुकता ::निबन्ध प्रतियोगिता मे हर्षिता, काजल ,भरत रहे अव्वल

editor1
2 Min Read
Screenshot-5

new-modern
gyan-vigyan

Forest Fire Awareness:: Harshita, Kajal, Bharat remain first in essay competition

अल्मोड़ा, 20 नवंबर 2023- हंस फाउंडेशन की ओर से उत्तराखंड के गढ़वाल और कुमाऊ मण्डल के 10 विकासखंडो के 1000 गावों में वनाग्नि शमन एवं रोकथाम परियोजना का संचालन किया जा रहा है।

Screenshot 2023 1120 170947
Forest Fire Awareness:: Harshita, Kajal, Bharat remain first in essay competition


वनाग्नि रोकथाम हेतु जन जागरूकता कार्यक्रमों के तहत मेरा गांव मेरा वन अभियान के तहत पंडित गोवर्धन शर्मा इंटर कालेज ज्योली के छात्र छात्राओं के साथ निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।


प्रतियोगिता मे स्कूली छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया तथा संदेश दिया की वनो की आग से होने वाले दुष्प्रभावों, जलवायु परिवर्तन ओर प्रकृति को संरक्षित करने को अपने लेख के माध्यम से प्रदर्शित किया ।
हंस फाउंडेशन के परियोजना सामन्वयक राजनीश रावत के द्वारा परियोजना के बारे मे विस्तारपूर्वक जानकारी देते हुए वनों के महत्व बताया और वनो के संरक्षण मे सहयोग करने को कहा ‌‌‍‌।
प्रधानाचार्य गणेश सिंह रावत ने बताया कि वन हमारे लिए जीवनदाय है इसलिए वन की रक्षा हमारे जीवन की प्राथमिकता होनी चाहिए अन्य लोगों को भी जागरूक करने को कहा ।
लेखन प्रतियोगिता के निर्णायक सोनू पाण्डेय, पिंकी पूजा रानी ,हर्षिता पाण्डेय ने विचार रखे कार्यक्रम मे वन विभाग के वन बीट अधिकारी हर्षिता पाण्डेय हंस फाउंडेशन के चंद्रेश पंत, दीपक ओली, शंकर, करन आदि उपस्थित रहे।