News-web

राज्यों के महत्त्व को बता रहीं हैं उत्तराखंड की यह दीवारें , महिला सशक्तिकरण को भी दे रहीं बढ़ावा

इजा बैनी महोत्सव के लिए हल्द्वानी शहर को सजाया जा रहा है। महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के उद्देश्य से जिला प्रशासन द्वारा हल्द्वानी शहर की दीवारों को खूबसूरत रंग बिरंगी पेंटिग से चमकाया जा रहा हैं। इस पेंटिग की सबसे खास बात यह है कि इनमे उत्तराखंड की महिलाओं की पारंपरिक संस्कृति के साथ ही अन्य राज्यो की संस्कृति की झलक भी देखने को मिल रहीं हैं।

जिस तरह से उत्तराखंड की महिलाएं पिछौड़ा पहनती है उसी तरह से अन्य राज्य की महिलाओ की भी पारंपरिक वेशभूषा को पेंटिंग के माध्यम से इन दीवारों में दर्शाया गया है। गुजरात की पारंपरिक वेशभूषा चोरनो और केडिया को भी वाल पेटिंग के जरिए दर्शाया गया है, साथ ही पंजाब में रहने वाली महिलाओं की वेशभूषा को भी दर्शाया गया है। जो कोई भी इस जगह से गुजर रहा है वह इन पेंटिग को रुक कर देख रहा हैं।

यहां उत्तराखंड की लोक गायिका बसंती बिष्ट व उत्तराखंड की ढोल बजाने वाली पहली महिला वर्षा की भी पेंटिग बनाई गई है। स्थानीय लोगों ने बताया कि जिला प्रशासन की यह पहल बेहद सराहनीय है, इन पेंटिग के माध्यम से लोगों को सभी राज्यों की वेशभूषा की जानकारी होगी।