Join WhatsApp Group

News-web

मंदाकिनी आस्था पथ से होगी बाबा के दर्शन, निर्माण कार्य के चलते मुख्य मार्ग बंद

Published on:

10 मई से शुरू हो रही केदारनाथ यात्रा में इस बार श्रद्धालुओं को बाबा केदार के दर्शन के लिए एक अलग ही मार्ग से गुजरना होगा। मंदिर के मुख्य मार्ग पर चल रहे निर्माण कार्य के कारण इस बार यात्रा का संचालन मंदाकिनी नदी के किनारे बने आस्था पथ से किया जाएगा। यह बदलाव श्रद्धालुओं के लिए एक नया अनुभव लेकर आएगा, जहाँ वे प्रकृति की सुंदरता का आनंद लेते हुए बाबा केदार के दर्शन कर सकेंगे।

गौरतलब हो, केदारनाथ धाम में दूसरे चरण के पुनर्निर्माण कार्य जोरों पर हैं। इसी के तहत मंदिर मार्ग पर सीवर लाइन बिछाने का काम चल रहा है, जिसके कारण मार्ग पर खुदाई की गई है और आवाजाही संभव नहीं है। इसलिए, श्रद्धालुओं की सुरक्षा और सुविधा को ध्यान में रखते हुए मंदाकिनी आस्था पथ को यात्रा के लिए चुना गया है।

श्रद्धालु हाट बाजार के पीछे बने सरस्वती आस्था पथ से होते हुए संगम पर पहुँचेंगे। संगम से मंदाकिनी नदी के किनारे बने आस्था पथ से होते हुए वे मंदिर तक पहुँचेंगे। मंदिर के दाईं ओर श्रद्धालुओं के लिए एक भव्य रेन शेल्टर भी बनाया गया है, जहाँ वे बारिश या धूप से बचाव कर सकेंगे।

बता दें, केदारनाथ विधानसभा के पूर्व विधायक मनोज रावत ने पुनर्निर्माण कार्य के तरीके पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि अत्यधिक खुदाई के कारण दुर्घटना का खतरा बना हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि पूर्व में करोड़ों रुपये खर्च कर बनाए गए मंदिर मार्ग और आवासीय भवनों को तोड़ना समझ से परे है।

केदारनाथ यात्रा में बदलाव के कारण श्रद्धालुओं को एक नया अनुभव प्राप्त होगा। हालांकि, निर्माण कार्य के चलते कुछ असुविधाएँ भी हो सकती हैं। सरकार और प्रशासन को यह सुनिश्चित करना होगा कि यात्रा सुचारू रूप से संचालित हो और श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की परेशानी न हो।