उत्तरा न्यूज
अभी अभी अल्मोड़ा

Almora : सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय में स्थापित हरेला पीठ को यूसर्क से मिले 5 लाख

Almora

अल्मोड़ा, 21 दिसंबर 2021- सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय, अल्मोड़ा में स्थापित हरेला पीठ को यूसर्क द्वारा विभिन्न गतिविधियों के संचालन के लिए 5 लाख रुपये स्वीकृत किये गए हैं।

अल्मोड़ा के सुदीप जोशी बने विकास अधिकारियों के एलआईसी उत्तर मध्य क्षेत्र के अध्यक्ष


कुलपति प्रो.नरेन्द्र सिंह भंडारी ने बताया कि विश्वविद्यालय में स्थापित हरेला पीठ पर्यावरण संरक्षण, जल संवर्धन, परंपरागत जल स्रोत नौला के पुनरुद्धार, उत्तराखंड के त्योहारों, उत्सवों के संरक्षण के लिए कार्य कर रहा है।

uttarakhand Weather Upadte : और इतने दिन पड़ेगी कड़ाके की ठंड, मौसम विभाग ने जारी किया yellow alert


कुलपति प्रो भंडारी द्वारा बताया गया कि हरेला पीठ पहाड़ के परंपरागत वनस्पतियों के संवर्द्धन, औषधीय वनस्पतियों की नर्सरी बनाने, कृषि के विकास को लेकर कौशल विकास प्रशिक्षण दिए जाने, टिशू कल्चर में व्यावसायिक प्रशिक्षण दिए जाने, पहाड़ के त्यौहारों के दस्तावेजीकरण, जनजागरूकता हेतु कार्यक्रम संचालित कर वैज्ञानिक सोच उत्पन्न करने को लेकर कार्य करेगा।

Almora: घनेली में पानी की समस्या को लेकर आक्रोशित महिलाओं ने दी आंदोलन की चेतावनी


उन्होंने बताया कि इसके साथ ही विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन के लिए 29 करोड़ की धनराशि स्वीकृत हो चुकी है और प्रशासनिक भवन बनाने के लिए भूमि का चयन कर लिया गया है।


उन्होंने कहा कि शीघ्र ही प्रशासनिक भवन बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय,बागेश्वर एवं पिथौरागढ़ परिसरों को विश्वविद्यालय के अधीन लाने के लिए जोर-शोर से प्रयास किये जा रहे हैं। शीघ्र ही यह परिसर रूप में विश्वविद्यालय के अधीन कार्य करेंगे।

यहां के संरचनात्मक, शैक्षणिक विकास आदि के लिए भी गंभीरता से प्रयास हो रहे हैं।
उन्होंने आगे कहा कि विश्वविद्यालय की बोर्ड ऑफ स्टडीज, फैकल्टी बोर्ड एवं कार्य परिषद का गठन हो चुका है। शीघ्र ही कार्य परिषद की बैठक आयोजित की जाएगी। विश्वविद्यालय में नवीन पाठ्यक्रमों के संचालन के लिए हम प्रयासरत हैं। हम परंपरागत ज्ञान के संवर्धन के लिए निरंतर कार्य कर रहे हैं।


पर्यावरण संरक्षण, नदियों की स्वच्छता को लेकर जनजागरूकता कार्यक्रमों का संचालन कर रहे हैं। विश्वविद्यालय ने दर्जनों गांवों को गोद लिया है। ग्रामों में विधिक जागरूकता कार्यक्रमों का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा अन्तरमहाविद्यालयी (पुरुष-महिला) खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन महाविद्यालयों में किया जा रहा है।

बॉलीबॉल, बॉक्सिंग आदि प्रतियोगिताओं का संचालन हो चुका है और अभी अन्य महाविद्यालयों में खेल प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। पहाड़ के युवाओं को खेल के क्षेत्र में अपना भविष्य बनाने के लिए खेल प्रतियोगिता आयोजित करवाकर राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं के लिए हम तैयार कर रहे हैं। यहां के बालक-बालिकाओं को खेल के क्षेत्र में भविष्य बनाने के लिए क्रीड़ा विभाग विभिन्न जनपदों में खेल प्रतियोगिताएं आयोजित कर रहा है।

Related posts

सस्ते गल्ले की दुकानों में मनमानी का आरोप, उपपा ने की कार्रवाई की मांग

Newsdesk Uttranews

अल्मोड़ा- राज्य आंदोलनकारियों (State agitators) ने सरकार के खिलाफ दिया धरना

Newsdesk Uttranews

ग्रामीणों की समस्याओं (problems of villagers) के निराकरण को अधिकारियों से मिले धर्म निरपेक्ष युवा मंच के सदस्य

Newsdesk Uttranews
error: Content is protected !!