देहरादून में युवाओं पर लाठीचार्ज के खिलाफ अल्मोड़ा में भी फूटा युवाओं का गुस्सा

Newsdesk Uttranews
3 Min Read

9 फरवरी को देहरादून में प्रदर्शन कर रहे युवाओं पर पुलिस के लाठीचार्ज के बाद पूरे उत्तराखण्ड में लोग आक्रोशित है। जगह जगह लोग इसके खिलाफ प्रदर्शन कर रहे है। अल्मोड़ा में भी आज राष्ट्रनीति संगठन के विनोद तिवारी,अजय जोशी,धर्मनिरपेक्ष युवा मंच के सयोजक विनय किरौला आदि के नेतृत्व में युवा चौघानपाटा में इकठ्ठा हुए और सरकार को जमकर कोसा।


युवाओं ने कहा राज्य में सरकारी नौकरियों में भ्रष्टाचार, परीक्षा पेपर लीक के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे युवाओं पर लाठीचार्ज निंदनीय है और इससे साफ तौर पर साबित होता है कि सरकार को युवाओं की कोई चिंता ही नही है।


युवाओं ने चौघानपाटा में जोरदार प्रदर्शन किया और चौघानपाटा से शिखर तिराहे से होते हुए मिलनचौक से रैमजे इंटर कॉलेज के पास तक जुलूस निकालकर सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।


इस मौके पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए विनय किरौला ने कहा कि उत्तराखंड बनने के 22 साल के बाद प्रदेश को हाकम सिंह के रूप में आर्थिक मॉडल मिला है। जिसमे 15-15 लाख रुपये लेकर करोड़ों रुपये कमाओ के मौके दिए जाते है और फंस जाने पर 6 माह की सजा काटो और जमानत पर आकर मौज करो की सुविधा भी दी जाती है। किरौला ने कहा कि UKPSC की कार्यप्रणाली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा हो गया है। जून 2022 में बने प्रश्न पत्र की गोपनीयता संजीव चतुर्वेदी गोपनीय अधिकारी की गिरफ्तारी के बाद संदेह के घेरे में है। कहा कि pcs की मुख्य परीक्षा को हर हालत में स्थगित कर युवाओं के साथ न्याय किया जाए।


अजय जोशी ने कहा भ्रष्ट हो चुके तंत्र के खिलाफ अब आर-पार की तैयारी के लिए युवा मन बना चुके है। उन्होने युवाओं से एकजुट रहने की अपील की।


कार्यक्रम के आयोजको में से एक विनोद तिवारी ने कहा कि उनकी पांच मांगे है, जिसमें सीबीआई जांच,आयोग के कर्मचारियों का फ़ेरबदल,बॉबी पंवार की रिहाई शामिल है। साथ ही एक मांग यह है कि पटवारी व उत्तराखंड लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा को तब तक स्थगित कर दिया जाए जब तक निर्धारित परीक्षा का सेट बदल नही जाता।


इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष भूपेंद्र भोज,आशीष जोशी,नीरज भट्ट,मनोज बिष्ट आदि ने भी पूर्ण सहयोग की बात कही।


कार्यक्रम केआयोजक विनय किरौला,विनोद तिवारी,अजय जोशी ने कहा कि अब भ्रष्टाचार के खिलाफ ये लड़ाई आर-पार की होगी,यदि सरकार ने हमारी माँग नही मानी तो हम अनशन में बैठने को मजबूर हो जायेगे,जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी।
आज की इस जनसैलाब में मुख्य रूप से धर्मनिरपेक्ष युवा मंच के सयोंजक विनय किरौला,विनोद तिवारी,छात्र संघ उपाध्यक्षा रुचि कुटौला,गजेंद्र कनवाल,राहुल कनवाल, छात्र संघ उपसचिव करिश्मा तिवारी,अजय जोशी,विकास कन्नौजिया, डीसीबी के डायरेक्टर विनीत बिष्ट,मनोज बिष्ट,,नीरज भट्ट, दीपक जीना,मनोज,राजेश, अंजली,प्रिया, रश्मि,संगीता,नितिन टम्टा, दीपक आदि मौजूद रहे।