सेलाकोट सड़क निर्माण से हो रहे नुकसान को लेकर ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी को भेजा ज्ञापन

उत्तरा न्यूज टीम
3 Min Read

भनोली। सेलाकोट सड़क निर्माण से हो रहे भारी नुकसान को लेकर ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी भनोली को ज्ञापन देकर भरपाई करने व भविष्य में नुकसान को रोकने की मांग की। ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के अंतर्गत चलनीछीना से मेहरागांव तक बनाई जा रही सड़क में ग्राम सभा सेलाकोट (तोक ढुने) के हम सभी ग्रामीण ठेकेदार द्वारा की जा रही मनमानी व भारी अनियमितताओं से काफी परेशान हैं

हमारे द्वारा कई बार ठेकेदार को मौखिक रूप से यह बताया जा चुका है कि सड़क का मलवा हमारे रिहायशी आवासों को भारी नुकसान पहुंचा रहा है साथ ही हमारे पारंपरिक जल स्रोतों एवं धार्मिक स्थलों तथा प्राथमिक विद्यालय भी अनियोजित सड़क कटान से खतरे की जद में आ गए हैं समय रहते आवश्यक स्थानों पर अगर सुरक्षा दीवारो का निर्माण नहीं किया जाता तो भविष्य में भूस्खलन जैसी स्थिति से भारी जनहानि का खतरा सुनिश्चित है।

बताया गया कि निर्माणदाई संस्था के ठेकेदार द्वारा नियमानुसार सुनिश्चित डंपिंग जोन में सड़क निर्माण का मलवा नहीं गिराया जा रहा है ठेकेदार द्वारा मनमाने तरीके से निर्माणाधीन सड़क का मलवा आवासीय मकानों एवं खेती करने योग्य जमीनों के ऊपर गिराया जा रहा है जिस कारण लगभग दर्जनभर मकानों के साथ ग्रामीणों के खेत खलिहान मलवे से पट गए हैं।

मांग उठाते हुए कहा कि हम सभी ग्रामीण चाहते हैं उपरोक्त मामले की सक्षम अधिकारियों द्वारा भौतिक निरीक्षण करवा कर आवश्यक स्थानों पर अति शीघ्र सुरक्षा दीवारें लगाई जाए तथा ग्रामीणों के खेत आवासों के ऊपर गिराए गए मलबे को हटाने को ग्रामीणों के हुए नुकसान की भरपाई करवाई जाए।। तथा सड़क निर्माण में की जा रही लापरवाही के लिए निर्माणदाई संस्था व ठेकेदार के खिलाफ आवश्यक कार्रवाई की जाए।। साथ ही यह भी अवगत कराना चाहते हैं उपरोक्त सड़क निर्माण मानकों एवं गुणवत्ता के अनुरूप नहीं बनाई जा रही है।। जिसके लिए सक्षम अधिकारियों द्वारा स्थलीय निरीक्षण का होना नितांत आवश्यक है। ज्ञापन देने वालों में ग्रामप्रधान सोनू देवी,हर सिंह,पूरन सिंह,हर्ष बिष्ट,राजू बिष्ट,प्रताप सिंह,किशन सिंह,केशव सिंह,हर सिंह,बची सिंह,जगत सिंह व प्रधान प्रतिनिधि वीरेंद्र सिंह आदि दर्जनों लोगों के हस्ताक्षर हैं।