विधायक महेश नेगी

State government effigy burnt, विधायक महेश नेगी

बागेश्वर सहयोगी, 22 अगस्त 2020 महिला के आरोपों से घिरे सत्ता पक्ष के विधायक महेश नेगी के मामले में कांग्रेस ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.

विधायक पर लगे आरोपो की जांच व डीएनए टेस्ट की मांग को लेकर शनिवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने राज्य सरकार का पुतला दहन कर प्रदर्शन किया.

कांग्रेस जिलाध्यक्ष लोकमणी पाठक के नेतृत्व में बागेश्वर एसबीआई तिराहे पर नारेबाजी करते हुये कांग्रेसजनों ने सरकार पर विधायक को बचाने का आरोप लगाया. कहा कि उत्पीड़न करने वाले लोगों को भाजपा सरकार संरक्षण भी देती है. अब तक राष्ट्रीय और राज्यस्तर पर ऐसे कई मामले प्रकाश में आ चुके हैं.

कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहा कि पुलिस प्रशासन सरकार के दबाव में काम कर रहा है. विधायक की पत्नी की शिकायत पर तो जांच शुरू कर दी गई लेकिन पीड़ित महिला के आरोपों की जांच नहीं की जा रही है. डीएनए जांच की मांग पर भी कोई कार्रवाई नही हो रही है.

कहा कि बेटी पढृाओ-बेटी बचाओं का नारा देने वाली भाजपा का असली चेहरा सामने आ चुका है. सरकार इस तरह के आरोपियों को बचाने में लगी हुई है. प्रदेश की जनता सब जान चुकी है, वर्तमान सरकार को जनता माफ़ नही करेगी.

कांग्रेस ने पीड़ित महिला द्वारा भाजपा विधायक पर लगाए गए आरोपों की निष्पक्ष जांच करने करने व डीएनए टेस्ट की मांग की है. जिससे पीड़िता को न्याय मिल सके.

इस दौरान पूर्व विधायक कपकोट ललित फर्स्वाण, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी, महिला जिला अध्यक्ष गीता रावल, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री राजेन्द्र टंगड़िया, नगर अध्यक्ष धीरज कोरंगा, बालकृष्ण, कवि जोशी, अंकुर उपाध्याय, ललित बिष्ट, धीरज कुमार, लक्ष्मी धर्मशत्तु, सुनीता टम्टा, ईश्वर पाण्डे, भग़वत रावल, रंजीत दास, महेश पंत आदि कांग्रेसी मौजूद थे.