Karnataka Khola Ramlila Committee of Almora will show Ramlila on-line, inauguration on Saturday through former CM Harish Rawat Verschuval





अल्मोड़ा, 16 अक्टूबर 2020 – कर्नाटकखोला रामलीला कमेटी अपने दर्शकों को आँन लाइन रामलीला दिखाएगी. कमेटी ने वर्चुवल रूप में रामलीला को दिखाने का निर्णय लिया है|

Karnataka Khola Ramlila Committee of Almora will show Ramlila on-line, inauguration on Saturday through former CM Harish Rawat Verschuval

जारी बयान में भुवनेश्वर महादेव राम लीला कमेटी कर्नाटक खोला के संस्थापक- संयोजक बिट्टू कर्नाटक ने बताया कि शनिवार 17 अक्टूबर 2020 को रामलीला का विधिवत शुभारंभ पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत द्वारा वर्चुअल (ऑनलाइन) रूप से किया जाएगा। श्री कर्नाटक ने बताया कि इस वर्ष कर्नाटक खोला में रामलीला वर्चुअल रुप से की जा रही है, प्रथम बार एच.डी कैमरे का उपयोग कर देश विदेश में अधिकतर लोगों को लाइव रामलीला दिखाए जाने का प्रयास किया जाएगा। श्री कर्नाटक ने बताया कि शनिवार 17 अक्टूबर को सर्वप्रथम 7:45 बजे सायं पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत जी द्वारा वर्चुअल रूप से रामलीला का शुभारंभ देहरादून से किया जाएगा और उसके पश्चात प्रथम दिवस के प्रसंग का मंचन रावण की तपस्या नारद मोह से प्रारंभ होकर गौरी पूजन तक की जाएगी उन्होंने कहा कि प्रथम दिन का मुख्य आकर्षण रावण तत्पश्चात, रावण अत्याचार ,राम जन्म ,सीता जन्म, ताडका / सुबह वध, अहिल्या उद्धार और गौरी पूजन तक किया जाएगा।

Karnataka Khola Ramlila Committee of Almora will show Ramlila on-line, inauguration on Saturday through former CM Harish Rawat Verschuval

कर्नाटक ने समस्त राम भक्तों से अपील की अधिक से अधिक लोग लीला का आनंद ऑनलाइन लेने का प्रयास करें।उन्होने कहा कि वर्चुअल रूप से अधिक से अधिक दर्शक जुड़ कर इस कार्यक्रम को अपना सहयोग प्रदान कर सकते हैं ,श्री कर्नाटक ने कहा कि इस प्रकार का आयोजन प्रथम बार करने का प्रयास किया जा रहा है और दर्शकों की कमी न खले इसके लिए लोगों को लोगों से यह भी अपील की जा रही कि आप अपने घर बैठ कर लीला का आनंद वर्चुअल रूप से ले सकते हैं ,उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौरान लोगों को संक्रमण से बचाने हेतु यह निर्णय लिया गया है ,जिससे कि अत्यधिक भीड़ ना हो साथ ही यह भी प्रयास किए जा रहे हैं की यदि लोग अधिक संख्या में आए तो प्रशासन केवल जारी किए गए पासों के आधार पर ही उन्हें कार्यक्रम स्थल पर जाने की अनुमति देगा|