जोशीमठ में भू-धंसाव से आई दरारों का दायरा बढ़ा

उत्तरा न्यूज टीम
1 Min Read
प्रतीकात्मक चित्र

जोशीमठ। जोशीमठ में हुए भू-धंसाव के कारण घर, व्यावसायिक भवनों के साथ ही जमीन पर दरारों का दायरा भी बढ़ता जा रहा है। बढ़ती दरारों ने स्थानीय लोगों के साथ ही शासन-प्रशासन को भी चिंता में डाल दिया है।

बताते चलें कि आने वाले दिनों में बारिश का पानी दरारों में न घुसे, इसके लिए प्राथमिक तौर पर दरारों को बेंटोनाइट तकनीक से भरने का शासन स्तर पर निर्णय लिया गया है। बेंटोनाइल एक प्रकार की क्ले (मिट्टी) होती है, जो पानी के संपर्क में आने पर फूल जाती है।

इन दिनों आपदा प्रभावित प्रार्थना कर रहे हैं कि अभी बारिश न आए। धूप खिली रहे तो उनका सामान बच सकता है क्योंकि कई लोगों ने अपने घर तो खाली कर दिए हैं लेकिन घर के जरूरी सामान भवन की छत और आंगन में ढककर रखा है। वहीं इस सामान को लोग किराये के घरों में और अपने रिश्तेदारों के यहांं भेज रहे हैं।

Joinsub_watsapp