shishu-mandir

How to Avoid Negative Marking in NEET: जाने यह आठ टिप्स, बढ़ जाएगा स्कोर

Smriti Nigam
4 Min Read

How to Avoid Negative Marking in NEET:  आज हम आपको आठ ऐसे टिप्स और ट्रिक बताने जा रहे हैं जो नीट के एग्जाम में आपके लिए कारगर साबित होंगे और यह आपके नीट के स्कोर को बढ़वा भी सकते हैं।

Tips How to Avoid Negative Marking in NEET: अगर आप भी नीट 2024 की तैयारी कर रहे हैं तो आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स और ट्रिक बताने जा रहे हैं जिससे आप नेगेटिव मार्किंग से तो बच ही सकते हैं, साथ ही आप अपने स्कोर को बढ़ा भी सकते हैं। यहां हम आपके लिए आठ टिप्स बता रहे हैं जो आपके लिए बेहद कारगर साबित होंगे और आपका रिजल्ट अच्छा आने में भी मदद करेंगे। पढ़ाई के साथ-साथ अगर आप इन टिप्स को अपनाते हैं तो निश्चित ही आप सफलता को पा जाएंगे।

Screenshot-5

How to Avoid Negative Marking in NEET- एग्जाम पैटर्न को समझना
मार्किंग स्कीम समेत एक्जाम पेटर्न को समझना बेहद जरूरी होता है। नीट आम तौर पर गलत जवाब के लिए -1 नंबर कर देता है वही आपको सही उत्तर के लिए + 4 नंबर मिलते हैं।

new-modern
gyan-vigyan

How to Avoid Negative Marking in NEET- जल्दबाजी के बजाय सही जवाब पर ध्यान दें
किसी भी एग्जाम में जहां टाइम मैनेजमेंट जरूरी होता है वही आपका सही जवाब भी सबसे ज्यादा मायने रखता है। पेपर में जल्दबाजी करने के बजाय सही सवालों पर ध्यान देना चाहिए। गलती की ज्यादा संभावना वाले सवालों को हल करने के बजाय जो जवाब आपको सही आते हो या जिन में आपकी एक्यूरेसी हो उन्हें जवाबों को हल करना चाहिए।

saraswati-bal-vidya-niketan

क्वेश्चंस को ध्यान से पढ़ें
सवालों के शब्दों पर पूरा ध्यान दें। किसी सवाल को जल्दबाजी में पढ़ने के बजाय ध्यान से पढ़कर उसकी गलत व्याख्या करने के बजाय सही जवाब दें। अपना उत्तर चुनने से पहले हर सवाल को ध्यान से और अच्छे से पढ़ें।

Eliminate Wrong Options
यदि आप किसी जवाब के बारे में अनिश्चित हैं, तो साफ रूप से गलत जवाबों को हटाने का प्रयास करें. इससे आपके अनुमान लगाने की संभावना बढ़ जाती है और गलत जवाब चुनने का जोखिम कम हो जाता है.

अभ्यास करें
मॉक टेस्ट और पिछले सालों के पेपर के माध्यम से लगातार आपको अभ्यास करते रहना चाहिए। यह आपको परीक्षा के पैटर्न को समझने में मदद करता है और आपके टाइम मैनेजमेंट स्किल को भी बढ़ाता है। इससे आपकी एक्यूरेसी में भी सुधार आएगा।

टाइम मैनेजमेंट
हर क्षेत्र और सवाल के लिए एक खास टाइम चुने या निश्चित करें कि कितने समय में कौन सा सेक्शन खत्म करना है और इस शेड्यूल को फॉलो करें। पेपर में जल्दबाजी बिल्कुल भी ना करें क्योंकि जल्दबाजी से गलतियां होने की संभावना बढ़ जाती है।

अनिश्चित जवाब को खाली छोड़ दें
यदि आप किसी सवाल के जवाब को लेकर कन्फ्यूजन में है तो बेहतर होगा आप उसे खाली छोड़ दें। अनुमान लगाने से नेगेटिव मार्किंग हो सकती है और आपका ओवरऑल स्कोर भी कम हो सकता है।

रिव्यु के लिए रखे टाइम
यदि आप किसी उत्तर को लेकर अनिश्चित हैं तो इसे रिव्यु के लिए मार्क कर लें और टाइम हो तो इसे बाद में फिर से देखें।यह सुनिश्चित करेगा कि आपने अगर जल्दबाजी में कुछ गलत भी लिख दिया है तो आपको दोबारा विचार करके इसे सही करने का मौका मिल जाएगा।