उत्तराखंड के मुख्य सचिव का उत्तराखंड के विकास को लेकर दिया गया बयान आश्चर्यजनक: रवीन्द्र जुगरान

उत्तरा न्यूज टीम
1 Min Read
fire broke out

देहरादून। भाजपा नेता रवीन्द्र जुगरान ने उत्तराखंड के मुख्य सचिव के उत्तराखंड के विकास को लेकर दिए गए बयान को आश्चर्यजनक बताते हुए कहा कि शायद मुख्य सचिव को धरातलीय वास्तविकता की जानकारी नहीं है। जुगरान ने कहा कि जब राज्य के सबसे बड़े नौकरशाह यह मान कर बैठे हैं तो अधीनस्थ अधिकारियों और कर्मचारियों का क्या ही कहना। यदि समूचित विकास हुआ होता तो 22 वर्षों में इतने बड़े स्तर पर शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, मूलभूत सुविधाओं की पूर्ति के लिए उत्तराखंड से लोगों का पलायन न हुआ होता।

जुगरान ने कहा कि यदि उत्तराखंड राज्य की मूल अवधारणा के अनुरूप विकास हुआ होता तो विगत 22 वर्षों में इतने बड़े स्तर पर शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, मूलभूत सुविधाओं की पूर्ति के लिए उत्तराखंड से लोगों का पलायन न हुआ होता। उत्तराखंड गठन के बाद से पहाड़ी क्षेत्रों की समस्याओं का निदान तो दूर की बात है इन 22 वर्षों में पहाड़ और भी उपेक्षित हुआ है। कहा कि उत्तर प्रदेश के जमाने में दोनों कमिशनरी गढ़वाल और कुमाऊं पौड़ी और नैनीताल से चलती थी। सभी विभागों के मुख्यालय कमिश्नरी में होते थे पर अब इसके ठीक विपरीत स्थिति है।

adbanner