हादसा जो गहरे जख्म दे गया, ओखलकांडा सड़क दुर्घटना (Okhalkanda road accident)के 9 वें घायल मासूम योगेश ने भी तोड़ा दम, एक परिवार समूचा हादसे की भेंट चढ़ गया

editor1
2 Min Read

The accident which left deep wounds, innocent Yogesh, the 9th injured in the Okhalkanda road accident, also died

हल्द्वानी, 27 नवंबर 2023- छीड़ाखान सड़क दुर्घटना(Okhalkanda road accident) हादसे का शिकार तुलसी पनेरू के पूरे परिवार का एक युग का अन्त हो गया।


जानकारी के अनुसार बीते रोज रविवार सुबह 3 बजे तुलसी पनेरू का घायल पुत्र जिन्दगी और मौत की जंग लड़ता योगेश भी जीवन से हार कर इस दुनिया को छोड़कर चला गया । एक परिवार का युग सदा के लिए समाप्त हो गया। पूरा गांव इस हृदयविदारक घटना के बाद हतप्रभ है।


17 नवंबर को हुए ओखलकांडा के छीड़ाखान सड़क हादसे(Okhalkanda road accident) में घायल नौ वर्षीय योगेश पनेरु ने भी रविवार तड़के हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल में दम तोड़ दिया। योगेश की मौत की खबर से एक बार फिर उसके परिजनों और डालकन्या गांव में मातम छा गया।


इस हादसे में योगेश के माता-पिता और भाई की मौत हो गई थी, योगेश को उसी दिन सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। पहले दिन से ही बच्चे की हालत गंभीर बनी हुई थी। सांस लेने में दिक्कत के चलते उसे वेंटिलेटर पर रखा गया था। तमाम कोशिश के बाद भी बच्चे की जान नहीं बच सकी। मेडिकल काॅलेज के प्राचार्य डॉ. अरुण जोशी ने बताया कि तड़के करीब साढ़े तीन बजे बच्चे की मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद रानीबाग चित्रशिलाघाट पर उसका अंतिम संस्कार किया गया। चिता को मुखाग्नि योगेश के दोनों चाचाओं ने दी।


इधर लोगों का कहना है कि बच्चे की हालत पहले दिन से ही चिंताजनक बनी हुई थी। बच्चे को एम्स या बड़े अस्पताल ले जाने की मांग उठाई थी। सरकार और प्रशासन चाहता तो उसे दिल्ली एम्स में भर्ती करा सकते थे। जहां उसे बेहतर उपचार मिल जाता, लेकिन किसी ने नहीं सुना।

Joinsub_watsapp