अभी अभी पिथौरागढ़

लंपी रोग से पिथौरागढ़ में 15 पशुओं ने तोड़ दिया दम, भारत सरकार की टीम पहुंची पिथौरागढ़

15-animals-die-of-lumpy-disease-in-pithoragarh

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now

पिथौरागढ़ में लंपी त्वचा रोग के कारण 15 पशुओं ने दम तोड़ दिया है। इससे बचाव के लिए सीमांत जनपद पिथौरागढ़ में अभी तक 55 हजार पशुओं का टीकाकरण हुआ है, लेकिन 15 पशुओं की मौत हो चुकी है।

new-modern-public-school.jpg new.jpg


पशुओं में फैले लंपी रोग की जांच करने और इसके कारणों का पता लगाने के लिए उसके कारणों का पता लगाने के लिए भारत सरकार की एक टीम बीते बुधवार की शाम यहां पहुंची। टीम में शामिल पशुपालन मंत्रालय के क्षेत्रीय अधिकारी उत्तर क्षेत्र विजय तेवतिया ने बताया कि पशुओं में यह बीमारी नेपाल से फैली है।

Chardham Yatra Ad Hindi (3)_page-0001


तेवतिया ने कहा कि ऐसे में इस बीमारी की रोकथाम के लिए राजस्व विभाग का सहयोग लेकर नेपाल सीमा से लगे पांच किलोमीटर के दायरे में प्रतिवर्ष पशुओं का टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि पिथौरागढ़ जिले में अब तक लंपी रोग से 15 पशुओं की मौत हुई है और 2399 पशु इस रोग से संक्रमित हैं, जिनमें से 1910 पशुओं का इलाज किया जा चुका है और। विभिन्न जगहों पर सक्रिय केस की संख्या 474 है। उन्होंने बताया कि रोग से बचाव के लिए 55 हजार पशुओं का टीकाकरण किया जा चुका है। उन्होंने पर्वतीय क्षेत्रों में बनी गोशालाओं को भी मानक के अनुरूप नहीं बताया।


बुधवार देर शाम पिथौरागढ़ पशुपालन विभाग में हुई बैठक में डिप्टी सीवीओ डॉ पंकज जोशी ने टीम को प्रजेंटेशन के जरिए पशुओं में फैली बीमारी और रोकथाम के लिए किए प्रयासों की जानकारी दी। क्षेत्रीय अधिकारी तेवतिया ने पशु चिकित्सकों को बीमारी के प्रति अलर्ट रहने के निर्देश दिए। टीम में प्रधान वैज्ञानिक आईसीएआर बंगलुरु के डॉ मंजूनाथ रेड्डी, पशुलोक ऋषीकेश से वैटनरी आफिसर मनोज गोला आदि शामिल हैं। इधर बृहस्पतिवार की सुबह केंद्र सरकार की टीम मुनस्यारी के लिए रवाना हुई, जहां बीमार पशुओं के सैंपल लेकर पशुपालकों से बात की जाएगी। उसके बाद टीम के बागेश्वर के लिए रवाना होने की बात बतायी जा रही है।

यह भी पढ़े   ये दलदल नहीं सड़क है साहब , यहां से गुजरना जान हथेली पर रखना है

Related posts

Almora:: जीआईसी शीतलाखेत का नाम हरिओम चंद व भुवनेश्वर पाठक के नाम पर किए जाने की मांग

Newsdesk Uttranews

अल्मोड़ा में गठित हुआ एजुकेशनल ट्रस्ट(educational trust), मेधावियों को मिलेगा लाभ

Newsdesk Uttranews

गुरूवार को भी नही निकाले जा सके पर्वतारोहियों के शव

Newsdesk Uttranews