उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड

Dehradun- विज्ञान का इतिहास पर आयोजित हुआ सेमिनार

Seminar on History of Science organized in Dehradun

खबरें अब whatsapp पर
Join Now

देहरादून, 19 नवंबर 2021

देहरादून (Dehradun)। उत्तराखंड राज्य विज्ञान और प्रौद्योगिकी परिषद (यूकॉस्ट) तथा वैली ऑफ़ वर्ड्स के संयुक्त तत्वाधान में आंचलिक विज्ञान केंद्र, विज्ञान धाम, झाझरा में “भारत में विज्ञान का इतिहास” विषय पर एक दिवसीय सेमिनार आयोजित किया गया।

nitin communication
medical hall

dehradun- सीएम धामी ने किया द आर्गेनिक गोल्ड रैस्टोरेंट का उदघाटन


सेमिनार के उद्घाटन सत्र में डॉ राजेंद्र डोभाल, महानिदेशक, यूकॉस्ट ने स्वागत भाषण दिया। इतिहासकार, पालिसी एनालिस्ट एवं सलाहकार,डॉ संजीव चोपड़ा ने वैली ऑफ़ वर्ड्स के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने इस वर्ष आयोजित किये जा रहे कार्यक्रमों के बारे में भी बताया। उद्घाटन समारोह का मुख्य व्याख्यान देते हुए सलाहकार, इन्सा,डॉ सी एम नौटियाल ने चलाये जा रहे प्रकल्पों पर विस्तार से बताया। उन्होने शोधार्थियों के लिए चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी भी दी। जीएस रौतेला, सलाहकार साइंस सिटी, देहरादून ने उद्घाटन सत्र में उपस्थित सभी अतिथियों और प्रतिभागियों को धन्यवाद ज्ञापित किया।

udiyar restaurent
govt ad

कोतवाली में तैनात कांस्टेबल का हृदय गति रुक जाने(cardiac arrest) से निधन

आईएनएसए, नई दिल्ली के सलाहकार डॉ सीएम नौटियाल ने तकनीकी सत्र का संचालन किया। इस सत्र का पहला व्याख्यान प्रोफेसर मयंक वाहिया, डीन, भूतपूर्व प्रोफेसर टीआईएफआर, मुंबई ने “प्राचीन भारत में खगोल विज्ञान” तथा प्रोफेसर दीपक कुमार, भूतपूर्व प्रोफेसर, जेएनयू, नई दिल्ली ने “भारत में चिकित्सा का इतिहास” पर व्याख्यान दिया।

तकनीकी सत्र में दिनेश शर्मा, जवाहरलाल नेहरू फेलो, नई दिल्ली ने “सूचना प्रौद्योगिकी के इतिहास” तथा डॉ आलोक कुमार कानूनगो, सहायक प्रोफेसर आईआईटी, गांधीनगर ने “भारतीय में कांच पर विज्ञान और प्रौद्योगिकी का इतिहास” पर अपना व्याख्यान दिया। सेमिनार में डीबीआईटी, बीहाइव इंस्टीट्यूट, जेबीआईटी, एल्पाइन इंस्टीट्यूट, आईसीएफएआई यूनिवर्सिटी, जीआरडी गर्ल्स डिग्री कॉलेज और उत्तरांचल यूनिवर्सिटी देहरादून (Dehradun) के 250 से अधिक छात्रों ने भागीदारी की।

Related posts

पलायन से गांव खाली हो रहे हैं हुजूर, इस पर भी चर्चा कर लीजिए,आरोप प्रत्यारोप फिर होते रहेंगे सवा लाख से अधिक लोगों ने कर लिया है स्थाई पलायन

Newsdesk Uttranews

यह संयोग या हकीकत— लॉक डाउन(lock down) के दौरान वनों में नहीं लगी आग, चार जिलों में आग लगने की केवल पांच घटनाएं

Newsdesk Uttranews

Civil Hospital Ranikhet की समस्याओं को लेकर कांग्रेस का अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन शुरू

Newsdesk Uttranews