News-web

शख्स ने अमेजॉन से ₹100000 का लैपटॉप किया आर्डर लेकिन डिब्बा खोलते ही उड़ गए होश

Published on:

रोहन एक नया लैपटॉप खरीदना चाहता था और उसने सोचा कि अमेजॉन पर ₹100000 की अच्छी डील मिल रही है लेकिन उन्होंने जो पैकेज मिला वह उनकी उम्मीद से भी परे था। नया लैपटॉप आने के बजाय उन्हें एक इस्तेमाल किया हुआ लैपटॉप मिला। ऑनलाइन शॉपिंग करते समय रोहन दास नाम के एक ग्राहक के साथ बहुत धोखा हुआ जिससे उन्हें बहुत गुस्सा भी आया और उन्होंने नया लैपटॉप खरीदना चाहते थे।

उन्होंने सोचा अमेजॉन से ₹100000 की अच्छी डील में एक अच्छा लैपटॉप मिल सकता है लेकिन उन्हें जो पैकेज मिला वह कुछ और ही था। उसमें नया लैपटॉप आने की वजह एक इस्तेमाल किया हुआ लैपटॉप आ गया।

ऐसे मिला धोखा

उनका यह लैपटॉप नया नहीं था। असल में उन्हें धोखा दिया गया था। रोहन ने 30 अप्रैल को अमेज़न से एक लेनोवो लैपटॉप मंगवाया था जो उन्हें 7 मई को मिल गया। लेकिन जब उन्होंने लेनोवो की वेबसाइट पर जाकर वारंटी चेक की तो पता चला कि ये वारंटी दिसंबर 2023 में ही शुरू हो चुकी थी। इसका मतलब उन्हें जो लैपटॉप मिला था वह पहले से इस्तेमाल किया हुआ था। इस बात पर उन्हें बहुत गुस्सा आया और उन्होंने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक पर एक वीडियो बनाया और अपनी परेशानी सभी को बताएं जो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है।

वीडियो बनाकर दिखाया गुस्सा

रोहन ने वीडियो बनाया जिसमें उन्होंने अपना गुस्सा जाहिर किया। उन्हें इस बात का बहुत बुरा लगा की पूरी कीमत देने के बाद भी उन्हें इस्तेमाल किया हुआ लैपटॉप मिला। उन्होंने वीडियो में लोगों से कहा कि अमेजॉन पर कुछ भी खरीदने से पहले 100 बार सोच कहीं और लोगों को भी उनकी जगह धोखा ना मिले।

रोहन का ये वीडियो “मुझे अमेजन ने धोखा दिया!” बहुत चर्चा में आ गया और लोगों ने उनका समर्थन किया। कई लोगों ने कमेंट्स में उन्हें सलाह दी कि वो कोर्ट में केस करें। उनका कहना था कि वो कंज्यूमर कोर्ट में जाकर शिकायत दर्ज कराएं और अपने पैसे वापस लेने की कोशिश करें।

आया ये जवाब

रोहन के वीडियो के वायरल होने के बाद, अमेजन ने भी इस मामले में जवाब दिया। उन्होंने माफी मांगी और रोहन से ज्यादा जानकारी देने का अनुरोध किया ताकि वो इस परेशानी को ठीक कर सकें। कुछ लोगों ने तो ये भी कहा कि वो सीधे लेनोवो से संपर्क करें। मगर रोहन ने बताया कि लेनोवो की टीम ने जवाब दिया है कि वो उनकी डाटाबेस में तो बनाने की तारीख रखते हैं, लेकिन वारंटी असल में वही से शुरू होती है, जब ग्राहक लैपटॉप खरीदता है।