News-web

पहाड़ों में मौसम का मिजाज बदला, यमुनोत्री धाम समेत ऊंचाई वाले क्षेत्रों में हुई झमाझम बारिश

Published on:

उत्तराखंड के पहाड़ी इलाकों में रविवार दोपहर बाद मौसम ने अचानक करवट बदल दी। यमुनोत्री धाम सहित आस-पास के खरशाली गांव, जानकीचट्टी, नारायण पुरी, फूलचट्टी क्षेत्र में तेज बारिश शुरू हो गई। बड़कोट तहसील क्षेत्र में भी आंधी-तूफान चला, जिससे लोगों में दहशत फैल गई।

बता दें, यमुनोत्री धाम में आधे घंटे से भी ज्यादा समय से तेज बारिश हो रही है। बारिश के बावजूद, बड़ी संख्या में श्रद्धालु धाम पहुंच रहे हैं। जानकीचट्टी-यमुनोत्री पैदल मार्ग पर जा रहे श्रद्धालुओं को रास्ते में फिसलन होने के कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।प्रशासन ने यात्रियों की सुरक्षा के लिए आवश्यक व्यवस्थाएँ की हैं और मार्ग पर सावधानी बरतने की अपील की है।

मौसम विभाग ने उत्तराखंड के पर्वतीय जिलों उत्तरकाशी, चमोली, पिथौरागढ़, बागेश्वर, रुद्रप्रयाग, अल्मोड़ा और टिहरी के कुछ इलाकों में हल्की बारिश की संभावना जताई है। अन्य जिलों में मौसम शुष्क रहने की संभावना है। पहाड़ी क्षेत्रों में यात्रा करते समय मौसम का पूर्वानुमान जरूर देखें। वाहन चलाते समय सावधानी बरतें और तेज गति से वाहन न चलाएं।

पहाड़ी रास्तों पर यात्रा करते समय खास करके फिसलन वाले क्षेत्रों में सावधानी बरतें।अपने साथ जरूरी सामान जैसे बारिश का जैकेट, टॉर्च, और पानी जरूर रखें। प्रशासन की ओर से जारी निर्देशों का पालन करें। प्रशासन ने यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी व्यवस्थाएँ की हैं। मौसम के अनुसार यात्रा मार्गों पर आवश्यक सावधानी बरती जा रही है। आपदा प्रबंधन टीम को अलर्ट पर रखा गया है।

मौसम विभाग द्वारा मौसम के पूर्वानुमान की नियमित जानकारी देने के लिए वेबसाइट और मोबाइल ऐप का इस्तेमाल किया जा रहा है।यात्रियों को किसी भी समस्या के लिए प्रशासन के हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करने की सलाह दी जा रही है। मौसम में परिवर्तन होने पर आपदा प्रबंधन टीम और प्रशासन द्वारा जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। यह बारिश का दौर कई दिनों तक रह सकता है, जिसके कारण पहाड़ी इलाकों में यात्रा करने वाले लोगों को सावधान रहने की जरूरत है।