Champawat- टूट चुकी छत के नीचे रहने को मजबूर(helpless) है यह परिवार, सिस्टम की नहीं पड़ी नजर

Newsdesk Uttranews
2 Min Read

82c15a04d5f5f73eb2eefdce8cd461cb
 

नकुल पंत
लोहाघाट(चम्पावत) – उत्तराखंड में हर व्यक्ति को रोटी, कपड़ा और मकान देने की घोषणाओं के बीच सरकारें अपना कार्यकाल पूरा कर रही है लेकिन गरीब और जरूरतमंदों (helpless)की परवाह किसी को नहीं है। 

चम्पावत जिले के लोहाघाट से आंखों को नम कर देने वाली खबर सामने आई है यहां एक परिवार टूट चुकी छत के नीचे दिन काटने को मजबूर(helpless) है।

helpless

काली कुमाऊं लोहाघाट विकासखंड से 15 किलोमीटर दूर पुल्ला ग्राम पंचायत में भारी बारिश के चलते 70 वर्षीय बुजुर्ग हीरा देवी के परिवार में खतरे के बादल मडरा रहे हैं। 

भारी बारिश के चलते नींद तो दूर दो जून की रोटी भी ढंग से नसीब नही हो पा रही है। गरीबी के चलते टूटी छत के नीचे यह परिवार अपने दिनों का गुजारा करने को मजबूर(helpless) है।

यहां देखें संबंधित वीडियो

लगातार हो रही बारिश से मकान खतरे की जद में है। कभी भी कोई अनहोनी घटना अंजाम दे सकती है। आर्थिक रूप से कमजोर इस परिवार के पास गरीबी राशन कार्ड तो दूर खाना बनाने के लिए गैस सिलेंडर तक नही है। 

सरकार द्वारा चलाई जा रही तमाम कल्याणकारी योजनाओं से अब तक यह परिवार महरूम है। आंखिर आला अधिकारियों से सवाल तो बनता है कि कब यह परिवार एक छत के नीचे सुकून की नींद सो सकेगा। 

अब सरकार की नजर तो अपनी प्रजा पर नहीं पड़ी यदि आपका मन इस परिवार की मदद करने का है तो जरूर आगे आएं।

Joinsub_watsapp