Fake documents

uttarakhand- 23 saal se Fake documents ke sahare naukri kar rha tha shikshak

नानकमत्ता (उधमसिंह नगर), 24 नवंबर 2020
लंबे समय से फरार चल रहे 2500 के ईनामी शिक्षक को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। शिक्षक पिछले 23 साल से फर्जी शैक्षणिक दस्तावेजों (Fake documents)
से नौकरी कर रहा था।

24 मई 2020 को उप शिक्षा अधिकारी सितारगंज, सुषमा गौरव ने पुलिस में तहरीर दी थी। जिसमें उन्होंने आरोपी सहायक अध्यापक समर पाल सिंह पुत्र जबर सिंह, निवासी मकदुमपुर पीला कुंड की मड़ैया, थाना नोगवा जिला अमरोहा जेपी नगर पर फर्जी प्रमाणपत्रों (Fake documents) के आधार पर 23 साल से नौकरी करने व दस्तावेजों में फर्जी पता दिए जाने का आरोप लगाया था।

teacher
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी सहायक अध्यापक—फोटो उत्तरा न्यूज

आरोपी शिक्षक के खिलाफ थाना नानकमत्ता में आईपीसी की धारा 420, 467,468, 471 के अंतर्गत मुकदमा पंजीकृत किया गया था।

पिथौरागढ़— नदी पुनर्जीवन परियोजना (River Rejuvenation Project) महत्वपूर्ण कार्य: डॉ सिन्हा

थानाध्यक्ष कमलेश भट्ट ने बताया कि इनामी आरोपी समर पाल सिंह को मुखबिर की सूचना पर एसओजी सर्विलांस प्रभारी भूपेंद्र आर्य की मदद से जसपुर क्षेत्र के अफजलगढ़ बस अड्डे के पास से गिरफ्तार किया गया है।

बताते चले कि अपने कागजातों में फर्जी (Fake documents) पता देने की वजह से आरोपी शिक्षक लंबे समय तक फरार होने में कामयाब रहा। जिसको देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने 2500 का इनाम घोषित किया था।

अपडेट खबरों के लिए हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें