shishu-mandir

कैसे सुधरे शिक्षा व्यवस्था,पर्वतीय जिलों में है शिक्षकों के 10 हजार से ज्यादा पद खाली

editor1
1 Min Read
Screenshot-5

देहरादून। उत्तराखंड के पर्वतीय जिलों में स्थित सरकारी विद्यालयों में स्थायी शिक्षकों के 10,946 पद खाली हैं जिसमें 6,632 पद माध्यमिक और 4,314 बेसिक शिक्षा के हैं। दरअसल उत्तराखंड विधानसभा में प्रश्नकाल में विधायक संजय डोभाल के सवाल पर यह जानकारी सामने आई है।

new-modern
holy-ange-school

शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने बताया कि पर्वतीय जिलों में प्रवक्ताओं के 4,253 और सहायक अध्यापक एलटी के 2,379 पद खाली हैं। वहीं इन खाली पदों के विपरीत प्रवक्ता पद पर 2,594 और सहायक अध्यापक एलटी के पद पर 1,123 अतिथि शिक्षक कार्यरत हैं। बेसिक शिक्षा में 516 प्राथमिक विद्यालयों और 45 उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक नहीं हैं।

gyan-vigyan

बताते चलें कि उत्तराखंड में पारदर्शी तबादलों के लिए लाए गए तबादला एक्ट बनने के बाद भी शिक्षकों के पहाड़ न चढ़ने और राज्य लोक सेवा एवं अधीनस्थ सेवा चयन आयोग से भर्ती में देरी इसकी वजह बताई जा रही है।