News-web

रानीधारा क्षेत्र में क्षतिग्रस्त मार्ग, पेयजल(drinking water) और सीवर लाइन की समस्या को तत्काल दूर करने की मांग

Updated on:

drinking water

Demand to immediately remove the problem of damaged road, drinking water and sewer line in Ranidhara area

अल्मोड़ा, 08 जुलाई 2023- अल्मोड़ा नगरपालिका के रानीधारा क्षेत्र में पेयजल(drinking water) के प्राकृतिक स्रोत नौले पर आए मलवे को हटवाने,मोहल्लेवासियों के घरों में सीवर लाइन बनाने में की गई लापरवाही के कारण आ रहे पानी व रास्ते की मरमत सम्बंघी मांग पर तत्काल कार्य करने की मांग सामाजिक कार्यकर्ता विनय किरौला ने उठाई है।


के सम्बंध में सामजिक कार्यकर्ता विनय किरौला के नेतृत्व में नागरिकों ने रानीधारा वासियों ने आपदा की दृष्टि से अत्यंत संवेदनशील धार की तूनी से बिरशीबा स्कूल को जाने वाले मार्ग,रानीधारा से विवेकानंद स्कूल को जाने वाले मार्गों जो पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो चुके है और आपदा को आमंत्रित कर रहे है को बरसात को देखते हुए तत्काल दुरूस्त करने की पुरजोर माँग की।


नगरपालिका अल्मोड़ा के रानीधारा क्षेत्र में पेयजल(drinking water) का प्राकृतिक स्त्रोत है,मोहल्ले वासी पेयजल(drinking water) की आपूर्ति के लिए इस नौले के पानी का इस्तेमाल करते है,बरसात के पानी की उचित निकासी की व्यवस्था न होने के कारण नौले व उसके चारों और प्रचुर मात्रा में मलवा जमा हो जाता है,मोहल्ले वासियों ने पूर्व में अनेको बार श्रम दान करके मालवा हटवाया,साथ ही चंदा कर दीवार भी दी किंतु बरसात में भारी मात्रा में मालवा आ रहा है जिससे एक ओर तो नौले का पानी दूषित हो रहा है वही दूसरी और नौले के चारो ओर पटे मलवे से आवाजाही रोक गयी है।


विनय किरौला ने बताया कि रानीधारा में सीवर लाइन का काम पिछले 3-4 माह से चल रहा है,बरसात से पूर्व जल निगम के अधिकारियों समेत जिस कंपनी को टेंडर आवंटित हुआ है को उनके संगठन व मोहल्ले वासियों द्वारा अवगत कराया गया था कि बरसात के मौसम से पूर्व चेम्बर निर्माण का कार्य प्रारंभ किया जाय,ताकि बरसात में लाइन चोक होने पर निकासी की व्यवस्था की जाए,और अत्यंत महत्वपूर्ण कि सीवर लाइन बनाने वाली कंपनी ने सीवर लाइन के ऊपर आम रास्ते मे जिस रास्ते की स्कूली बच्चों समेत हर दिन सैकड़ो लोग इस्तेमाल करते है,सीवर लाइन की मिट्टी साफ न करने के कारण मिट्टी कीचड़ का ढेर बन गया है,जिसमे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है,रास्ते का पूरा पानी लोगों के घरों में घुस मकानों को कमजोर कर रहा है।
रानीधारा वासी आपदा की दृष्टि से अत्यंत सवेदनशील उपरोक्त समस्याओं के समाधान की पुरजोर माँग जिलाधिकारी अलमोड़ा से की गई,ताकि उपरोक्त समस्याओं के कारण जान-माल का नुकसान न हो।
जिलाधिकारी अल्मोड़ा द्वारा आस्वस्त करते हुए कहा गया कि जल्द ही उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में टीम को उपरोक्त समस्याओं के समाधान के लिए भेजा जाएगा।ज्ञापन देने वालो में विनय किरौला,कमला दरमवाल,हसीं रावत,कमला रावत,मोहन लाल टम्टा,यगवती डोगरा,जानकी बिष्ट,उमा अल्मिया,देवकी बिष्ट,पंकज रौतेला,गोविंद बिष्ट,मयंक पंत,निरंजन पांडे, गिरीश तिवारी आदि दर्जनों लोग उपस्थित थे।

 drinking water
problem of damaged road, drinking water