News-web

सरकारी स्कूल के बच्चे ने एसडीएम से की शिकायत, स्कूल में नहीं हो रही पढ़ाई, खाना भी है बेकार और शिक्षक कर रहे हैं टाइम पास

Published on:

पीलीभीत एक सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले एक बच्चे ने फोन पर एसडीएम से शिकायत की कि उसके स्कूल में घटिया क्वालिटी का मिड डे मील दिया जा रहा है। उसने कहा स्कूल में शिक्षक पढ़ाते भी नहीं है केवल टाइम पास करते हैं। इस काॅल के बाद एसडीएम के निर्देश पर नायब तहसीलदार गांव पहुंचे और शिक्षक से जानकारी लेते हुए शिक्षण कार्य सुधारने के निर्देश दिए।उन्होंने मध्याह्न भोजन की गुणवत्ता भी सुधरने को कहा। अब यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है।

परिषदीय स्कूलों में शिक्षण कार्य और मध्याह्न भोजन की योजना की एक बच्चे ने पोल खोल दी है। 2 दिन पहले दुर्जनपुर कलां के एक परिषदीय स्कूल के बच्चे ने एसडीएम को फोन करके इस बारे में शिकायत की। बच्चों का कहना था कि स्कूल में शिक्षक खाली बैठे रहते हैं और पढ़ाते नहीं है, वह सिर्फ टाइम पास करते हैं। बच्चों को खुद ही किताब पढ़ने के लिए कहकर आपस में बातें करते हैं। उसने एसडीएम से कहा कि दोपहर का मिलने वाला भोजन भी एकदम खराब क्वालिटी का है। सब्जी, दाल आदि बिल्कुल खाने योग्य नहीं होती है।

अपनी व्यस्तता के चलते एसडीएम ने खंड शिक्षा अधिकारी को निर्देश देते हुए इस मामले को देखने के लिए कहा लेकिन शिक्षा विभाग ने मामले को नजरअंदाज कर दिया। अधिकारियों के ना सुनने पर बच्चे ने नायब तहसीलदार अभिषेक त्रिपाठी के पास फोन किया और अपनी शिकायत दोहराई। गुरुवार को नायब तहसीलदार अभिषेक त्रिपाठी दुर्जनपुर कला गांव पहुंचे। हालांकि इस दौरान स्कूल बंद हो चुका था लेकिन उन्होंने स्कूल में पढाने वाले शिक्षक को बुलाया और उनसे शिक्षण कार्य और मिड डे मील की जानकारी ली।

उन्होंने फोन करने वाले बच्चों के बारे में भी जानकारी ली लेकिन उसका पता नहीं चल सका तहसीलदार ने शिक्षक से शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए कहा। उन्होंने कहा बच्चों को मेन्यू के मुताबिक गुणवत्ता वाला मिड डे मील मिलना चाहिए। दोबारा शिकायत मिलने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी।