News-web

ड्रग्स माफिया के घर से 130 करोड़ रुपये के बिटकॉइन बरामद, डार्क वेब से चल रहा था कारोबार

Published on:

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने अंतरराष्ट्रीय ड्रग्स माफिया बनमीत नरुला के हल्द्वानी स्थित घर से 268 बिटकॉइन बरामद किए हैं जिनकी कीमत करीब 130 करोड़ रुपये आंकी गई है। ईडी के अनुसार, बनमीत और उसका भाई परविंदर नरुला इन बिटकॉइन का इस्तेमाल डार्क वेब के माध्यम से ड्रग्स खरीदने में करते थे।

गौरतलब हो, ने 26 अप्रैल को परविंदर नरुला को गिरफ्तार किया था और उसे सात दिन की ईडी कस्टडी में भेजा गया था। शनिवार को स्पेशल ईडी कोर्ट ने परविंदर की कस्टडी चार दिन के लिए और बढ़ा दी है।

ईडी के अनुसार, नरुला बंधु डार्क वेब के माध्यम से ड्रग्स का अवैध कारोबार करते थे। डार्क वेब इंटरनेट का वह हिस्सा है जो सामान्य सर्च इंजन से नहीं पहुँचा जा सकता और जहाँ अवैध गतिविधियाँ संचालित की जाती हैं। डार्क वेब पर लेनदेन के लिए बिटकॉइन जैसी क्रिप्टोकरेंसी का इस्तेमाल किया जाता है।

बता दें, ईडी इस मामले में अमेरिकी अधिकारियों के भी संपर्क में है क्योंकि बनमीत को अमेरिका की एक अदालत ने ड्रग्स तस्करी के मामले में सजा सुनाई है। ईडी को शक है कि नरुला बंधुओं के भारत में भी कई साथी हैं जिन तक पहुँचने के लिए परविंदर से पूछताछ की जा रही है।

बनमीत नरुला को 2019 में लंदन से गिरफ्तार किया गया था और मार्च 2023 में उसे अमेरिका प्रत्यर्पित कर दिया गया था। अमेरिका की एक अदालत ने उसे ड्रग्स तस्करी के मामले में पाँच साल कैद और 150 मिलियन डॉलर जुर्माने की सजा सुनाई है।