shishu-mandir

वनाग्नि रोकथाम को द हंस फाउंडेशन(Hans Foundation) ने चलाया जागरूकता कार्यक्रम

editor1
2 Min Read
Screenshot-5

new-modern
gyan-vigyan

The Hans Foundation runs awareness program on forest fire prevention

बागेश्वर, 08 नवंबर 2023- उत्तराखण्ड के वनों को आग से बचाने के लिए द हंस फाउंडेशन(Hans Foundation) द्वारा वृहद्व स्तर पर जन-जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन कराया जा रहा है। फाउंडेशन द्वारा संचालित वनाग्नि रोकथाम एवं शमन परियोजना के अन्तर्गत वर्ष 2022 के शुरूआत से वनाग्नि रोकथाम हेतु जन सहभागिता को बढ़ाने के लिए कार्य किया जा रहा है।

saraswati-bal-vidya-niketan
Hans Foundation
Hans Foundation


उत्तराखण्ड में सर्दियों में भी वनाग्नि की घटनायें हो रही है, जिसे लेकर वन विभाग द्वारा हाल में ही अलर्ट जारी किया गया है। इसी क्रम में जनपद बागेश्वर के गरुड़ ब्लॉक के राजकीय इंटर कालेज अमस्यारी में परियोजना के अन्तर्गत फाउंडेशन (Hans Foundation)द्वारा वनाग्नि, पर्यावरण संरक्षण, जन सहभागिता विषय पर निबंध लेखन प्रतियोगिता का आयोजन किया गया।


आयोजित प्रतियोगिताओं में स्कूली छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया तथा संदेश दिया कि वन हमारी बहुमूल्य संपदा है, इनका संरक्षण हमें करना चाहिए तथा वनाग्नि से होने वाले दुष्प्रभावों को भी बच्चों द्वारा अपने लेख के माध्यम से प्रदर्शित किया। द हंस फाउंडेशन (Hans Foundation)द्वारा सभी बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले छात्र – छात्राओं को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार क्रमसः प्रयाशा, दीक्षा व प्रिया मेहरा को प्रमाण पत्र तथा अन्य पुरस्कार भी दिये ।

द हंस फाउंडेशन के परियोजना समन्वयक रजनीश रावत ने कहा की फाउंडेशन वन संरक्षण के लिए विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से जन समुदाय को जागरूक कर रही हैं, तथा वनो को आग से बचाने हेतु आम जन मानस से अपील कर रही हैं।

स्कूल के प्रधानाचार्य हरेन्द्र सिंह नेगी, अध्यापकगण, ग्रामीणों तथा वन विभाग द्वारा द हंस फाउंडेशन के द्वारा उत्तराखण्ड के वनों को बचाने के लिए किये जा रहे कार्यो की सराहना की तथा कहा कि पर्यावरण संरक्षण हेतु सभी को जागरूक होने तथा प्रयास करने की आवश्यक्ता है।


कार्यक्रम में संस्था के ब्लॉक समन्वयक गंगा आर्य , मोटीवेटर हरीश रावत, हरीश नाथ गोस्वामी, मनीषा व संतोष तिवारी मौजूद रहे ।