shishu-mandir

Almora- 5 साल बीते सरकार भूल गई सड़क का वादा,ग्रामीणों ने लगाए चुनाव बहिष्कार के पोस्टर

उत्तरा न्यूज डेस्क
2 Min Read
Screenshot-5

आजादी के 76 साल बीत जाने के बावजूद भी आज भी कई ऐसे ग्रामीण क्षेत्र हैं जो कि मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। अल्मोड़ा जिले में लमगड़ा ब्लॉक के तीन गांव है जो आज भी मूलभूत सुविधाओं से वंचित है। अल्मोड़ा जिले के विकासखंड लंगमड़ा के तीन गांव के ग्रामीण को सड़क,स्वास्थ्य शिक्षा जैसी सुविधाओं से मरहूम है। ग्रामीण कई बार मांग सड़क और अन्य मूलभूत सुविधाओं की मांग कर रहे है लेकिन विधायक व सांसद ने क्षेत्र का जायजा लेना तक भी जरूरी नहीं समझा।

new-modern
gyan-vigyan

लमगड़ा के नैणी,जिफल्टा और कोकिला गांव में 600 से अधिक आबादी सड़क से वंचित है। ग्रामीण कई किलोमीटर की दूरी तय कर मुख्य मार्ग जलना व मेतधुरा तक पहुंचते है, वही मरीजों को भी डोली कुर्सी या चारपाई के सहारे से 8 किमी पैदल चलकर सड़क तक लाया जाता है। इतना ही नहीं बल्कि शिक्षा ग्रहण करने के लिए भी बच्चो को भी 10 किमी की पैदल चलकर लमगड़ा पहुंचना पड़ता है। ग्रामीणों द्वारा स्कूल व स्वास्थ्य केंद्र की भी मांग की जा रही हैं। लेकिन कोई भी इन ग्रामीणों की समस्याओं को सुनने को तैयार नहीं है। पिछली बार 2019 के लोगसभा चुनाव में तीनों गावों के पोलिंग बूथ नैणी में एक भी वोट नही पड़ा था। इसके बाद रोड स्वीकृत हुई लेकिन आज तक काम शुरू नही हुआ है। बताया जा रहा है कि क्षत्रिपूर्ति वृक्षारोपण के लिए जमीन उपलब्ध होने के बावजूद फारेस्ट क्लीयरेंस नही हुई है।जिसके बाद प्रशासन ने सड़क निर्माण का आश्वासन भी दिया था लेकिन सड़क आज तक नही बनी है।

saraswati-bal-vidya-niketan

अब ग्रामीणों ने रोड नही तो वोट नहीं का नारा देते हुए लोकसभा चुनाव के बहिष्कार का ऐलान किया है। ग्रामीणों ने बताया कि सड़क के कई बार सर्वे भी हो चुका है। लेकिन अब तक यह सर्वे धरातल तक नही उतर पाया। कहा कि विधायक सांसद व नेताओं ने उन्हें ठगने का कार्य किया है।