पिथौरागढ़ में शुरू हुई हेरिटेज टूरिज्म गाइड की 10 दिवसीय निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यशाला

उत्तरा न्यूज डेस्क
3 Min Read

पिथौरागढ़। पर्यटन विभाग उत्तराखंड और टूरिज्म एवं हॉस्पिटेलिटी स्किल काउंसिल की ओर से 10 दिवसीय हेरिटेज टूरिज्म गाइड की निशुल्क प्रशिक्षण कार्यशाला राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बेरीनाग में शुरू हो गई है।

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम वेप टेक्नोलॉजी संस्था द्वारा संचालित किया जा रहा है। संस्था पूर्व में 520 छात्र – छात्राओं को प्रशिक्षण दे चुकी है। सोमवार को प्रशिक्षण के प्रथम सत्र में गंगावली वंडर्स के संस्थापक और गंगोलीहाट क्षेत्र में विभिन्न गुफाओं के सर्किट पर शोध कार्य कर रहे सुरेंद्र बिष्ट ने हेरिटेज पर्यटन के अनेक स्थलों, उनकी ऐतिहासिक पृष्ठभूमि की विस्तृत जानकारी दी। द्वितीय सत्र में काफल संस्था के माध्यम से ईको पार्क, बर्ड वाचिंग व अनेक नई गुफाओं की खोज कर चुके तरुण मेहरा ने नेचर गाइडिंग, क्षेत्र में विभिन्न पक्षियों की पहचान, उनके व्यवहार, हिमालयी श्रृंखलाओं की पहचान के साथ साथ अनेक नई गुफाओं को हेरिटेज टूरिज्म के साथ जोड़कर एक गाइड के रूप में पर्यटन गतिविधियों के संचालन के बारे में बताया।

पर्यटन विभाग की अपर निदेशक पूनम चंद के दिशा निर्देशन में संचालित इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में विकासखण्ड बेरीनाग की ब्लॉक प्रमुख विनीता बाफिला, विशिष्ट अतिथि राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय बेरीनाग के प्राचार्य डा देवेश भट्ट, जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति चंद्र आर्या, सोसाइटी फाॅर हिमालियन इन्वायरमेंट एंड जियोलाॅजी के संस्थापक रत्नाकर पाण्डे, जिला पंचायत सदस्य नंदन बाफिला इस मौके पर उपस्थित रहे।

इस दौरान जिला पर्यटन अधिकारी ने प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे युवाओं को अधिक से अधिक पर्यटन गतिविधियों से जोड़कर स्वरोजगार को बढ़ाने और व्यवहारिक रूप से अपने अपने क्षेत्रों में कार्य करने को प्रेरित किया। इस प्रशिक्षण में छात्र-छात्राओं को हर दिन प्राचीन मन्दिरों, भवनों, नौलों, ट्रैकिंग रुटों के परंपरागत पैदल मार्गों और स्थानों, तीर्थ स्थलों व पुरातात्विक पौराणिक स्थलों के विषय में जानकारी दी जायेगी।

प्रशिक्षण अवधि में युवाओं को लोकल हैरिटेज एवं पर्यटन की दृष्टि से महत्वपूर्ण आसपास की कुछ जगहों पर भ्रमण कराया जायेगा व हेरिटेज टूरिज्म के लिए बतौर गाइड तैयार किया जायेगा। इस प्रशिक्षण में मुनस्यारी के 30 प्रशिक्षणार्थी भाग ले रहे हैं।

Joinsub_watsapp