News-web

क्या आप जानते हैं इस इकलौते नंबर के बारे में जिसने ली कई लोगों की जान, फिर करना पड़ा बैन!

Published on:

बुल्गारिया में एक मोबाइल फोन कंपनी थी जिसका नाम था मोबिटेल। इस कंपनी में एक फोन नंबर जारी किया था इस फोन नंबर को सबसे पहले कंपनी के सीईओ व्लादिमीर ग्राशनोव (Vladimir Grashnov) इस्तेमाल करते थे। फिर एक दिन अचानक वह मर गए।

आज के समय में मोबाइल होना एक आम बात हो गई है। बच्चों से लेकर बूढ़ों तक सबके पास मोबाइल फोन होता है लेकिन क्या आपने सुना है कि एक ऐसा भी फोन नंबर है जिसकी वजह से कई लोगों की जान चली गई। लोग तो इस बात पर ध्यान नहीं देते कि उनका फोन नंबर क्या है वह सिर्फ उसे इस्तेमाल करते हैं। कुछ साल पहले एक फोन नंबर काफी चर्चा में आया जिसको लेकर यह कहा जा रहा था कि यह एक भूतिया नंबर है। भूतिया इस वजह से क्योंकि जिस किसी ने भी इस नंबर का इस्तेमाल किया वह इस दुनिया में नहीं रहा इस वजह से इस नंबर को बैन कर दिया गया।

इस फोन नंबर को सबसे पहले कंपनी के सीईओ व्लादिमीर ग्राशनोव (Vladimir Grashnov) इस्तेमाल करते थे। पर 48 साल की उम्र में कैंसर की वजह से उनकी मौत हो गई। यूं तो उनकी कोई दुश्मनी नहीं थी, पर चर्चा ये शुरू हो गई कि उनके किसी व्यवसायिक दुश्मन ने रेडियोएक्टिव पदार्थ खिलाकर उनकी जान ले ली।

3 लोगों की जा चुकी है जान

बताया जाता है कि इसके बाद यह नंबर बुल्गारिया के माफिया Konstantin Dimitrov के पास पहुंच गया। साल 2003 में जब डिमिट्रॉव जब अपने अरबों के ड्रग्स व्यापार का निरीक्षण करने नीदरलैंड गया था, तब किसी ने उसकी हत्या कर दी। उस वक्त शख्स की उम्र सिर्फ 31 साल थी। बताया जाता है कि उसे वक्त यह फोन नंबर उसके पास था और वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ खाना खा रहा था जब किसी ने उसे गोली मार दी।

उसके पास से यह फोन नंबर एक शातिर व्यापारी Konstantin Dishliev के पास पहुंचा। उसे साल 2005 में बुल्गारिया के सोफिया शहर में भारतीय रेस्टोरेंट के बाहर गोली मार दी गई वो कोकेन की खरीद-फरोख्त का काम किया करता था तब से नंबर किसी के पास नहीं है और पुलिस लगातार केस की छानबीन कर रही है।