Bhaskar Chaudhary

speech by ssj University Teacher Bhaskar Chaudhary

अल्मोड़ा। सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय (ssj University almora) में शिक्षा संकाय के अध्यापक डॉ भास्कर चौधरी (Bhaskar Chaudhary) ने दोहा (कतर) के एक प्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय शिक्षण संस्थान में व्याख्यान दिया। यह कार्यक्रम नई दिल्ली स्थित वाणिज्य मंत्रालय के तत्वाधान में आयोजित इस कार्यशाला में डॉ भास्कर चौधरी ने गणित एवं विज्ञान शिक्षण की आधुनिकतम शिक्षण विधियों एवं मूल्यांकन की तकनीक पर अपने विचार रखे।

अल्मोड़ा- नहीं रहीं गुलामी के दौर की आमा, 103 वर्ष की उम्र में हुआ निधन(died)


चौधरी ने अपने विचार रखते हुए कहा कि वैश्विक स्तर पर शोध और 21 वी सदी में बदलती शिक्षा पद्धतियों के अनुसार शिक्षकों को भी इसके अनुरूप आधुनिक बनना होगा।

Nainital नैनी महिला व बाल विकास समिति द्वारा सांस्कृतिक विरासत संरक्षण हेतु कार्यक्रम आयोजि


चर्चा और परिचर्चा के दौरान डॉ भास्कर (Bhaskar Chaudhary
) ने गणित और विज्ञान विषय के कई पहलुओं पर बात की। बताते चले कि देश के प्रतिष्ठित काशी हिंदू विश्वविद्यालय से अपनी पढ़ाई करने वाले डॉ भास्कर पूर्व में भी राष्ट्रीय स्तर की कई गोष्ठियों में प्रतिभाग कर चुके है। डॉ भास्कर की इस उपलब्धि पर सोबन सिंह जीना विश्वविद्यालय अल्मोड़ा के कुलपति डॉ एनएस भंडारी सहित विश्वविद्यालय के कुलसचिव बिपिन चन्द्र जोशी, परीक्षा नियंत्रक डॉ सुशील चन्द्र जोशी, प्रो0 एनडी कांडपाल, प्रो0 शेखर जोशी आदि ने हर्ष व्यक्त किया है।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें