News-web

पहले पत्नी के हाथ में चाकू से कर दिया वार,बीच बचाव में आए 10 साल के बच्चे को मार डाला

Updated on:

कोटा के बोरखेड़ा थाना इलाके में पिता ने अपने 10 साल के इकलौते बेटे की चाकू मारकर हत्या कर दी। आरोपी पिता का रसोई में पत्नी से झगड़ा चल रहा था। उसने गुस्से में आकर अपनी पत्नी के हाथ पर चाकू मार दिया। मां की चीख पुकार सुनकर बेटा उन्हें बचाने आ गया तो पिता ने उसकी जान ले ली। इसके बाद खुद को भी जख्मी कर लिया।

मां के फोन करने पर रिश्तेदार घर पहुंचे और तीनों को एमबीएस अस्पताल लेकर गए। इलाज के दौरान बच्चे ने दम तोड़ दिया। घायल पति-पत्नी का इलाज चल रहा है। बेटे की मौत से बेखबर मां का रो-रो कर बुरा हाल है।

नया नोहरा इलाके में रहने वाले जसवंत और उनकी पत्नी मूर्ति के बीच आज दोपहर झगड़ा हुआ था। घर में पति और पत्नी और उनके 10 साल का बेटा लविश था अस्पताल में भर्ती बच्चे की मां मूर्ति का कहना है कि मेरे पति आए दिन मुझे मारते हैं। रोज झगड़ा करते हैं,धमकी देते हैं कि वह हम दोनों को मार देंगे। मैं दोपहर में रसोई में खाना बना रही थी इतने में वह आए और आकर मेरे साथ मारपीट करने लगे। उन्होंने चाकू लिया और मुझे गिराकर मारने लगे। शोर सुनकर बेटा लविश वहां बचाने आया और चाकू को पकड़ लिया तो उन्होंने उसे पकड़ कर चाकू मार दिया। इतने में मैंने अपनी मां और भाई को कॉल किया और इस घटना के बारे में बताया। इसके बाद घर वाले मौके पर पहुंचे और हमें अस्पताल पहुंचाया।

एमबीएस अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में मूर्ति को ले जाया गया है और उनका इलाज चल रहा है। पुलिस ने उनका बयान लिया है, इस दौरान मां बार-बार अपने बेटे के बारे में पूछ रही है रिश्तेदार किसी तरह उन्हें बहला रहे हैंहालांकि उसे बचाया नहीं जा सका उसकी पीठ पर चाकू से वार किया गया था और गर्दन पर भी उसके चोट आई थी। लविश इकलौता बेटा था, आरोपी पिता जसवंत अजमेर में रहता है।

मूर्ति के भाई महेंद्र ने बताया कि जसवंत नशे का आदी है। पहले वह शराब पीने का आदी था। बाद में भांग-गांजा भी पीने लगा था। नशा करने के बाद वह मेरी बहन और भांजे के साथ मारपीट करता था। पांच दिन पहले भी उसने बहन को मारा था, जिसके बाद बोरखेड़ा थाने में शिकायत दी थी। पुलिस ने जसवंत को पकड़कर शांति भंग में पाबंद करवाया था। एक दिन बाद ही वह छूट गया था। घर आकर फिर से झगड़ा करने लगा था। वह नशे का इतना आदी हो गया कि कुछ भी बोलता रहता था। बिना बात झगड़ा करता था। शक भी करता था।

जसवंत कोई काम नहीं करता। परिवार की जमीन है। उसके मुनाफे से ही परिवार का खर्च चल रहा था। बोरखेड़ा थाने की एसआई ज्योति ने बताया कि हॉस्पिटल से चाकूबाजी की सूचना मिलने पर वहां पहुंचे। बच्चे की मां का बयान लिया गया है। आरोपित ने खुद पर भी वार किया। उसका भी इलाज चल रहा है। कार्रवाई जारी है।