Government should make special policy for employment- demand for secular youth forum

अल्मोड़ा, 11 जुलाई- धर्म निरपेक्ष युवा मंच ने सरकार से रोजगार के लेकर विशेष नीति बनाने की मांग की है.

मंच का कहना है कि सरकार ऐसी नीति बनाए कि युवा जाँब सीकर नहीं जाँब क्रियेटर बने. मंच की ओर से हवालबाग के ग्राम सभा ज्योली (कटारमल) और भैसियाछाना ब्लाक के ग्राम सभा देवड़ा में युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने हेतु बैठक में यह मांग की गई.

बैठक में कोविड-19 के चलते हुए लाँक डाउन से उत्पन्न आर्थिक तंगी के कारण विभिन्न जनपदों एवं प्रदेशों से आये युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए मार्गदर्शन किया गया।

इस हेतु मंच संयोजक विनय किरौला द्वारा युवा साथियों को सरकार की स्वरोजगार से संबंधित योजनाओं के बारे में जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि इन योजनाओं से किस प्रकार वे स्वरोजगार से जुड़कर पहाड़ को आर्थिक तौर पर खड़ा कर सकते हैं‌ तथा विभिन्न प्रदेशों में अपने कार्य के अनुभव व हुनर का इस्तेमाल कर अपनी शैक्षिक योग्यता और समझ के अनुरूप संसाधनों का उपयोग कर रोजगार का सृजन कर सकते हैं,साथ ही अन्य युवाओं को भी रोजगार दे सकते है.

मंच के सदस्य पवन मुस्युनी ने युवा साथियों को बताया कि वर्तमान में भारतीय स्टेट बैंक द्वारा प्रशिक्षण केन्द्र हवालबाग में विभिन्न लघु उद्योगों को लेकर प्रशिक्षण कार्यशाला आयोजित की जा रही है जहां आनलाईन और आफलाइन माध्यम से युवा साथी प्रशिक्षण ले सकते हैं । तथा कम्प्यूटर/लैपटाप / मोबाईल की सहायता से आनलाईन आवेदन करने की जानकारी भी दी गई.

इस अवसर पर मंच के संयोजक विनय किरौला,पवन मुस्युनी, विनोद मुस्यूनी,सुन्दर लटवाल, ग्राम प्रधान संगठन के अध्यक्ष देव भोजक ,देवेंद्र देवड़ी,पूर्व प्रधान जगदीश राम,पूर्व बहादुर सलाल,पूर्व प्रधान गोविंद राम, अर्जुन सलाल, प्रवीण सलाल,गणेश सलाल,बहादुर सलाल,अमित देवड़ी, दिगम्बर देवड़ी,चंदन देवड़ी,अशोक कुमार,गोपाल राम,पन राम,मनोज राम,प्रकाश देवड़ी,रमेश सलाल इत्यादि लोग मौजूद थे.