Join WhatsApp

News-web

दूसरी बार एशियाई चैंपियन बने पिथौरागढ़ के मुक्केबाज ब्रिजेश टम्टा

Published on:

पिथौरागढ़। 25 अप्रैल से 6 मई तक कजाकिस्तान में आयोजित एशियन यूथ चैंपियनशिप में सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के उभरते मुक्केबाज ब्रिजेश टम्टा चैंपियन बने। ब्रिजेश ने 48 किलोग्राम भार वर्ग में भारत का प्रतिनिधित्व किया।

ब्रिजेश ने क्वार्टर फाइनल में उज्बेकिस्तान के मुक्केबाज साबिरोव सेफिद्दीन को हराया, फिर सेमीफाइनल में किर्गिस्तान के मुक्केबाज तालाइबेक उलू इसूर को हराया और आज फाइनल में ताजिकिस्तान के मुमिनोव मुइनखोझा को हराकर भारत के लिए स्वर्ण पदक जीता। जिला क्रीड़ा अधिकारी पिथौरागढ़ अनूप बिष्ट ने जानकारी देते हुए बताया कि ब्रिजेश लगातार दूसरी बार एशियाई चैंपियन बने हैं।

पिछले साल उन्होंने 46 किलोग्राम भार वर्ग में जूनियर एशियाई चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व किया और स्वर्ण पदक जीता। ब्रिजेश जनपद पिथौरागढ़ के जगतड़ गांव के रहने वाले है। वह भारतीय खेल प्राधिकरण द्वारा खेल विभाग के अधीन संचालित स्मॉल खेलो इंडिया सेंटर देवसिंह मैदान पिथौरागढ़ में बॉक्सिंग खेल के प्रशिक्षु हैं और अपने कोच निखिल महर से प्रशिक्षण लेते हैं। उनके पिता फकीर राम प्राइवेट नौकरी करते है। बृजेश की उपलब्धि पर जिला प्रशासन पिथौरागढ़, उत्तराखंड बॉक्सिंग संघ, खेल विभाग पिथौरागढ़, जिला ओलंपिक संघ पिथौरागढ़, कैप्टन हरि सिंह थापा जिला मुक्केबाजी संघ पिथौरागढ़, एवं जनपद के प्रशिक्षकों खिलाड़ियों एवं खेल प्रेमियों ने उन्हें शुभकामनाएं देते हुए उज्जवल भविष्य की कामना की है।