संसद सुरक्षा चूक मामला,हंगामें के बीच 78 विपक्षी सासंद निलंबित,विपक्ष का आरोप चर्चा से बच रही सरकार

Newsdesk Uttranews
2 Min Read

दिल्ली। देश में लोकतंत्र के सबसे बड़े भवन संसद में हुई सुरक्षा चूक के मुद्दे पर चर्चा कराने और केंद्रीय गृह मंत्री के बयान की मांग को लेकर सोमवार को दोनों सदनों में जोरदार हंगामा जारी रहा।


कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी, तृणमल कांग्रेस के सौगत राय, डीएमके के टीआर बालू, दयानिधि मारन समेत लोकसभा के कुल 33 सांसदो को निलंबित किया गया। जबकि राज्यसभा से जयराम रमेश, प्रमोद तिवारी, केसी वेणुगोपाल, इमरान प्रतापगढ़ी, रणदीप सिंह सुरजेवाला, मोहम्मद नदीमुल हक़ समेत 45 सांसदो को
निलंबित किया गया।


ये सभी सांसद 13 दिसंबर 2023 को संसद में हुई सुरक्षा में चूक के मामले पर गृह मंत्री अमित शाह के बयान की मांग कर रहे थे। विपक्ष ने इस मामले में चर्चा की मांग की है। बीते दिवस इस मामले को लेकर विपक्षी दलों ने हंगामा किया। वही हंगामा बढ़ता देख लोकसभा अध्यक्ष ने लोकसभा के 33 और राज्यसभा के सभापति ने राज्य सभा के 45 सांसदों सहित कुल 78 सांसदों का निलंबन कर दिया। इससे पहले भी संसद से 14 सांसदों को निलंबित किया गया था।अब तक 92 सांसदो को निलंबित किया जा चुका है।


बताते चलें कि एक दिन में एक साथ इतने सांसदों का यह सबसे बड़ा निलंबन है। मामले पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा, सभी दलों ने सहमति जताई थी कि वे नए सदन में तख्तियां नहीं लाएंगे। लेकिन विपक्ष के सदस्य मर्यादा तोड़ रहे हैं। सदन तभी चलेगा, जब सांसद तख्तियां लेकर नहीं आएंगे। वहीं विपक्षी दलों ने इसे तानाशाही करार दिया है।

Joinsub_watsapp