shishu-mandir

जय राम ठाकुर ने विक्रमादित्य सिंह और प्रतिभा सिंह को दिया बीजेपी में शामिल होने का खुला ऑफर

Smriti Nigam
3 Min Read
Screenshot-5

Jai ram thakur exclusive:कांग्रेस के 6 बागी विधायकों पर एक्शन को लेकर जयराम ठाकुर ने कहा है कि विधायकों की अयोग्यता पर जल्दबाजी में फैसला लिया जा रहा है। स्पीकर ने गुरुवार को 6 विधायकों को अयोग्य करार कर दिया है।

new-modern
holy-ange-school

Himachal pradesh:कांग्रेस के तमाम दावों के बीच अब हिमाचल प्रदेश में जबरदस्त राजनीति का संग्राम हो रहा है। इसी बीच भाजपा के वरिष्ठ नेता जयराम ठाकुर ने हिमाचल प्रदेश कांग्रेस की अध्यक्ष प्रतिभा सिंह और उनके बेटे विक्रमादित्य सिंह को बीजेपी में शामिल होने के लिए खुला ऑफर दे डाला है। पूर्व मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि वह जलालत के दौर से बाहर आए वह हिम्मत करती है तो हम विचार करेंगे। अगर बाहर आती है तो हम इस पर जरूर गौर करेंगे।जो विधायक अयोग्य हुए हैं इस पर जल्दबाजी में फैसला लिया गया है।

gyan-vigyan

उन्होंने यह भी कहा कि जब सोनिया गांधी राहुल गांधी और प्रियंका गांधी नहीं सुन रहे तो हम ने सबकी सुनी। स्वाभाविक रूप से उनकी पीड़ा एक दिन से नहीं कई दिनों से थी। कई विधायक नाराज थे। कुछ को उन्होंने डरा और धमका कर भी रखा हुआ था।

वही प्रतिभा सिंह से कांग्रेस को लेकर शुक्रवार को सवाल किए गए तो उन्होंने कहा कि संगठन के स्तर पर अभी भी बहुत कुछ होना बाकी है। कांग्रेस संगठन को मजबूती देना मेरा काम है। हमारे लिए यह कठिन परिस्थिति है। पार्टी को मजबूत करना ही सबसे आवश्यक है। प्रतिभा सिंह ने कहा कि स्पीकर के फैसले से लोग काफी दुखी हैं। राजेंद्र राणा ने प्रेम सिंह धूमल को हराया था। उनका पार्टी में समायोजन नहीं हुआ।

साथ ही उन्होंने कहा कि बागी विधायक के टच में हम लोग नहीं थे और उनका फोन अब स्विच ऑफ है। इसके पहले शुक्रवार को कांग्रेस के हस्तक्षेप के बाद प्रतिभा सिंह और मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू साथ नजर आए। दोनों नेताओं ने साझा किया और एक प्रेस कॉन्फ्रेंस भी की और नाराजगी दूर करने की बात भी प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहीं। साथ ही उन्होंने एक मिली हुई समिति बनाने का ऐलान भी किया।

इससे पहले प्रतिभा सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने सुक्खू से नाराजगी के बाद मंत्री पद से तुरंत इस्तीफा दे दिया। हिमाचल कांग्रेस में संकट मंगलवार से ही शुरू हो गया। अब राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस के 6 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। इन विधायकों को स्पीकर ने अयोग्य करार दिया है।