Join WhatsApp Group

News-web

एम्स एमडी परीक्षा में नकल कांड, दो डॉक्टरों समेत पांच गिरफ्तार

Published on:

देश के प्रतिष्ठित चिकित्सा संस्थान एम्स की एमडी परीक्षा में नकल कराने का एक बड़ा गिरोह पकड़ा गया है। देहरादून पुलिस ने दो डॉक्टरों समेत पांच लोगों को गिरफ्तार किया है जो परीक्षा केंद्रों से प्रश्न पत्रों की फोटो खींचकर टेलीग्राम पर उत्तर भेज रहे थे। इस गिरोह ने “ऑपरेशन पास” नामक एक योजना बनाई थी जिसके तहत प्रति अभ्यर्थी 50 लाख रुपए लेकर उन्हें परीक्षा में पास कराया जाता था।

बता दें, पुलिस को एम्स की एमडी परीक्षा (इंस्टीट्यूट ऑफ नेशनल इंपोर्टेंस कंबाइंड एंट्रेंस टेस्ट 2024) में नकल कराए जाने की गुप्त सूचना मिली थी। ऋषिकेश पुलिस और एसओजी देहात की संयुक्त टीम ने रविवार देर रात बैराज रोड पर एक टाटा सफारी में बैठे पांच लोगों को गिरफ्तार किया। ये लोग एम्स की एमडी परीक्षा में कांगडा (हिमाचल) के परीक्षा केंद्र में मोबाइल फोन और टैब के माध्यम से प्रश्न पत्रों के उत्तर उपलब्ध करा रहे थे। गिरफ्तार आरोपियों में एम्स ऋषिकेश के दो डॉक्टर भी शामिल हैं।

परीक्षार्थी परीक्षा केंद्रों से प्रश्न पत्रों की फोटो खींचकर टेलीग्राम के माध्यम से गिरोह के सदस्यों को भेज रहे थे। गिरोह के सदस्य टेलीग्राम पर उत्तर भेजकर परीक्षार्थियों को नकल कराने में मदद कर रहे थे। यह पूरा ऑपरेशन टेलीग्राम एप पर चलाया जा रहा था। पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और मामले की जांच जारी है। पुलिस इस मामले में शामिल अन्य लोगों की तलाश कर रही है।

यह घटना देश के प्रतिष्ठित संस्थानों में नकल के बढ़ते प्रचलन को उजागर करती है। यह घटना शिक्षा व्यवस्था के लिए एक गंभीर खतरा है। प्रशासन को नकल रोकने के लिए कड़े कदम उठाने की जरूरत है।