Almora DDA smapti ka sashnadesh jari nhi hone se akrosh

अल्मोड़ा, 16 फरवरी 2021

Almora- मुख्यमंत्री के जिला विकास प्राधिकरण को स्थगित करने की घोषणा के बाद भी अभी तक डीडीए को समाप्त करने का शासनादेश जारी ना होने पर सर्वदलीय संघर्ष समिति ने गहरा रोष व्यक्त करते हुए बदस्तूर अपना धरना जारी रखा।


सभा को संबोधित करते हुए समिति के संयोजक नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी ने कहा कि आज से साढ़े तीन वर्ष पूर्व प्रदेश की भाजपा सरकार ने तुगलकी फरमान से पूरे प्रदेश की जनता की जनभावनाओं के विरूद्ध पूरे उत्तराखंड में जनविरोधी जिला विकास प्राधिकरण लागू कर दिया जिसके कारण पूरे प्रदेश की जनता परेशान है।

Almora Breaking- नशा मुक्ति केंद्र (nasha mukti kendra) में भर्ती युवक की मौत (Death)


जोशी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो प्राधिकरण स्थगित करने की घोषणा Almora में की थी शीघ्र शासनादेश भी जारी किया जाना था। उन्होंने कहा कि सबसे पहले तो भाजपा की प्रदेश सरकार ने नवम्बर 2017 में बिना पर्वतीय क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति का अध्ययन किये समूचे उत्तराखंड में मनमाने तरीके से जिलास्तरीय विकास प्राधिकरण लागू कर दिया। उसके बाद से ही जबकि समूचे पर्वतीय क्षेत्र की जनता इस प्राधिकरण का विरोध कर रही थी तब भी भाजपा सरकार प्राधिकरण के मुद्दे पर जनता को केवल आश्वासन दे रही है।


इससे प्रतीत होता है कि भाजपा की इस सरकार को जनता की दुःख तकलीफों से कुछ भी लेना देना नहीं है। जोशी ने कहा कि कितनी बार प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री से लेकर महामहिम को जनता की मांग पर डीडीए समाप्त करने के लिए ज्ञापन भी प्रेषित किये। लेकिन अभी तक प्राधिकरण को समाप्त ना किया जाना प्रदर्शित करता है कि प्रदेश की भाजपा सरकार का जनता से कितना सरोकार है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में भी आज लोग इस प्राधिकरण के कारण बेहद परेशान हैं।

Almora news- अल्मोड़ा को हैरिटेज शहर बनाने को लेकर जनचेतना मुहिम चलाने का निर्णय


समिति के प्रवक्ता राजीव कर्नाटक ने कहा कि विगत दिनों Almora पहुंचे सूबे के मुख्यमंत्री ने पत्रकार वार्ता कर जिला विकास प्राधिकरण को स्थगित करने की बात कही थी। लेकिन अभी तक इसका शासनादेश जारी नहीं हो सका। अब ऐसे में जनता अपने भवन निर्माण मानचित्र स्वीकृति के लिए कहां जाए यह सोचनीय विषय है।


कर्नाटक ने कहा कि मुख्यमंत्री की घोषणा के बाद तुरन्त इसका शासनादेश जारी हो जाना था। लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि सरकार घोषणा करती है और घोषणा के उपरांत मामला ठण्डे बस्ते में चला जाता है। उन्होंने कहा कि पहाड़ी क्षेत्रों की जनता इस प्राधिकरण के लागू होने से कितनी त्रस्त है यदि सरकार ने इस बात की भी सर्वे करा ली होती तो सरकार प्राधिकरण निरस्तीकरण का शासनादेश तुरन्त जारी कर चुकी होती। उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षों से सर्वदलीय संघर्ष समिति के बैनर तले Almora की स्थानीय जनता लगातार आन्दोलनरत है लेकिन न तो कभी सरकार के प्रतिनिधियों ने और ना ही सम्बन्धित अधिकारियों ने धरनास्थल पर आकर समिति से बात करना उचित समझा।


उन्होंने कहा कि जब तक जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण को पूरी तरह समाप्त कर इसका शासनादेश जारी नहीं कर दिया जाता तब तक समिति का धरना बदस्तूर जारी रहेगा। धरने की अध्यक्षता समिति के संयोजक पालिकाध्यक्ष प्रकाश चन्द्र जोशी ने तथा संचालन सभासद हेम तिवारी ने किया।


धरने में हर्ष कनवाल, चन्द्रमणि भट्ट, महेश आर्या, सभासद हेम तिवारी, चन्द्रकान्त जोशी, ताराचंद साह, प्रताप सत्याल, लक्ष्मण सिंह ऐठानी, एन डी पाण्डे, ललित मोहन पन्त, पीएस बोरा, एमसी काण्डपाल, चन्द्रशेखर सिराड़ी, दिनेश जोशी, सहित लोग मौजूद थे।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/