उत्तराखंड में बिजली दरें बढ़ाने का प्रस्ताव वापस ले सरकार: करन माहरा

उत्तरा न्यूज टीम
2 Min Read

देहरादून। उत्तराखंड के ऊर्जा निगम की ओर से बिजली दरें बढ़ाने के प्रस्ताव का कांग्रेस ने विरोध दर्ज किया है। कांग्रेस की ओर से प्रदेश अध्यक्ष करन माहरा ने उत्तराखंड सरकार पर आम जनता पर एक के बाद एक वित्तीय बोझ डालने का आरोप लगाते हुए चेतावनी दी कि जल्द प्रस्ताव वापस न लिया गया तो पार्टी आम जनता के साथ जोरदार विरोध करेगी।

आरोप लगाया कि कहा कि सरकार बिजली दरों में इजाफे के साथ साथ सीवरेज और पेयजल की दरें भी बढ़ाने जा रही है जिसका खामियाजा पहले से मंहगाई की मार झेल रही आम जनता को पड़ेगा। बताते चलें कि घरेलू श्रेणी में 5.14 प्रतिशत, कमर्शियल में 6.8 प्रतिशत और उद्योग में 8.0 प्रतिशत की वृद्धि का प्रस्ताव है। नए प्रस्ताव के तहत घरेलू श्रेणी में 25 पैसे कमर्शियल में 35 पैसे और उद्योग में 40 पैसे प्रति यूनिट बिजली दरों में बढ़ोतरी प्रस्तावित है।

वहीं कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष (संगठन) मथुरादत्त जोशी ने बताया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र भेज कर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने बिजली दरें बढ़ाने के प्रस्ताव का विरोध किया। कहा कि आम जनता केंद्र सरकार की उपेक्षापूर्ण नीतियों से पहले ही त्रस्त है। महंगाई पर न केन्द्र और न राज्य सरकार के स्तर से कोई नियंत्रण किया जा रहा है। बिजली की दरें बढ़ाने के प्रस्ताव के खिलाफ शुक्रवार को कांग्रेसी प्रदेश भर में विरोध प्रदर्शन करेंगे।