जलवायु परिवर्तन का प्रभाव, पीर पंजाल में 122 ग्लेशियर सिकुड़े

editor1
1 Min Read

दिल्ली। पीर पंजाल पर्वतमाला जो कि हिमालय की एक विस्तृत पर्वतमाला है और हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर राज्यों और पाक-अधिकृत कश्मीर में चलती है में भी जलवायु परिवर्तन का असर दिखाई दे रहा है। हाल ही में जारी राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, श्रीनगर के शोधकर्ताओं की एक स्टडी रिपोर्ट के अनुसार पीर पंजाल में 122 ग्लेशियर सिकुड़ रहे हैं इससे हिमनदों के फटने का खतरा मंडरा रहा है।

जानकारी के अनुसार पीर पंजाल रेंज में 122 ग्लेशियरों की पहचान की गई है, जिनके आकार में 1980 के बाद से भारी गिरावट आई है। करीब 25.7 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले ग्लेशियर घटकर महज 15.9 वर्ग किलोमीटर रह गए हैं। अध्ययन के अनुसार जो ग्लेशियर दक्षिण की ओर हैं उन्होंने उत्तर की ओर मुख करने वाले ग्लेशियरों की तुलना में कहीं ज्यादा गिरावट का सामना किया है। इसके अलावा जो ग्लेशियर समुद्र के स्तर से औसतन 3,800-4,000 मीटर ऊंचाई पर हैं, वे कम ऊंचाई वाले ग्लेशियरों की तुलना में कहीं ज्यादा पिघले हैं।