job alert

E granthalaya scheme launched in uttarakhand

2 जुलाई 2020- उत्तराखंड राज्य के शासकीय विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों के पुस्तकालयों में ‘‘ई-ग्रंथालय’’ E granthalaya का शुभारम्भ मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने बुधवार को सचिवालय से आनलाईन किया। जारी सूचना के अनुसार प्रदेश के 05 विश्वविद्यालय एवं 104 महाविद्यालय ई-ग्रंथालय से जुड़ चुके हैं जिसका फायदा विद्यार्थियों को मिलेगा

uru advt

ई-ग्रन्थालय योजना के तहत सभी विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों को एक ऑनलाइन वेबपोर्टल से जोड़ा जा रहा है। यदि किसी विश्वविद्यालय या महाविद्यालय में कोई पुस्तक उपलब्ध न हो तो, इनके एक ही पोर्टल पर जुड़ने से ई-ग्रन्थालय के माध्यम से विद्यार्थियों सभी पुस्तकों का अध्ययन करने में सरलता रहेगी।

ऐसे एक्सेस करें ई-ग्रन्थालय

आप दिए गए लिंक पर जाकर ई-ग्रन्थालय वेबसाइट को एक्सेस कर सकते हैं। click here to access E- granthalaya web portal ई-ग्रन्थालय पोर्टल पर विभिन्न कॉलेज केे पुस्तकालय की चयन की सुविधा भी उपलब्ध है।

IMG 20200525 WA0035

योजना का उद्घाटन करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि इस समय पूरा विश्व कोविड-19 की महामारी के दौर से गुजर रहा है। हमें समय की मांग के अनुसार तकनीक को बढ़ावा देना होगा। आधुनिक तकनीक के माध्यम से हम आपसी दूरियों को कम कर सकते हैं। ई-ग्रंथालय के शुभारम्भ से विद्यार्थियों को समग्र जानकारियां उपलब्ध होंगी।

उच्च शिक्षा मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखण्ड देश का पहला राज्य है, जहां प्रत्येक काॅलेज को ई-ग्रंथालय से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी की घोषणा एवं मार्गदर्शन में विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों को ई-ग्रंथालय से जोड़ा गया है। लाॅकडाउन के दौरान विश्वविद्यालयों एवं महाविद्यालयों द्वारा आनलाईन शिक्षण का कार्य किया गया। इसके काफी सकारात्मक परिणाम रहे।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के आईटी सलाहकार श्री रविन्द्र दत्त, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा डाॅ. आनन्द बर्द्धन, सचिव श्री आर. के सुधांशु, श्री अशोक कुमार, श्री विनोद रतूड़ी, अपर सचिव उच्च शिक्षा श्री डाॅ. अहमद इकबाल, निदेशक उच्च शिक्षा डाॅ. कुमकुम रौतेला एवं वीडियों कांफ्रेंस के माध्यम से विश्वविद्यालयों के कुलपति एवं महाविद्यालयों के प्राचार्य जुड़े थे।

देखें वीडियोस

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw