leopard attack
प्रतीकात्मक फोटो— उत्तरा न्यूज

पिथौरागढ़ में घास काट रही महिला पर गुलदार ने किया हमला (leopard attack)

गुलदार के प्राकृतिक आवासीय क्षेत्र में बुधवार पूर्वान्ह घास काटने गई थी महिला, अस्पताल में भर्ती महिला की हालत खतरे से बाहर

पिथौरागढ़। जिला मुख्यालय के आस पास के क्षेत्र में गुलदार का आतंक फिर बढ़ने लगा है। बुधवार को घास काटने गई एक महिला पर गुलदार ने हमला (leopard attack) कर दिया। बुरी तरह जख्मी महिला को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया है।

corona update — अब बागेश्वर के डीएम और सीडीओ की कोरोना रिपोर्ट आई पाॅजिटिव,पढ़े पूरी खबर


जिला मुख्यालय के नजदीक चंडाक क्षेत्र की दीपा रावत उम्र 22 वर्ष पत्नी प्रदीप रावत अन्य महिलाओं के साथ घास काटने के लिए जंगल गई थी। इसी दौरान पूर्वान्ह लगभग 11 बजे जेल बैंड के ऊपरी इलाके में मुख्य सड़क से करीब तीन सौ मीटर ऊपर दीपा पर गुलदार ने हमला (leopard attack) कर दिया।

चीख पुकार पर अन्य महिलाएं शोर मचाती हुईं मौके की तरफ दौड़ीं तो गुलदार भाग गया। आनन-फानन में महिला को जिला अस्पताल में भर्ती किया गया। जहां डाॅ. एलएस बोरा ने महिला का आपरेशन किया। डाॅ. बोहरा ने बताया कि महिला के गर्दन और दाहिने हाथ के अंगूठे पर गंभीर जख्म थे, जिनका उपचार किया गया। अब महिला की हालत खतरे से बाहर है।

Dgp अशोक कुमार की बड़ी कार्यवाही, मुकदमा नहीं लिखने पर अल्मोड़ा के इस पुलिस अधिकारी को किया निलंबित

वहीं पिथौरागढ़ वन क्षेत्र के रेंजर दिनेश जोशी ने बताया कि हमला (leopard attack) जिस जगह हुआ है वह गुलदार का प्राकृतिक आवासीय क्षेत्र है। वह चट्टानी इलाका है सुबह से ही उस इलाके में अच्छी धूप निकल आती है। संभवत: गुलदार धूप सेंकने वहां बैठा होगा और घास काटने के दौरान महिला के उस तरफ जाने पर उसने हमला कर दिया। उन्होंने बताया कि वन विभाग की टीम क्षेत्र में गश्त कर रही है।

लोगों के अनुसार जिस क्षेत्र में गुलदार का हमला हुआ है वह पहले से बघतोली नाम से जाना जाता था। यानि वह इलाका बाघ की आवाजाही के लिए जाना जाता है। गौरतलब है कि जिले या उत्तराखंड के पूरे पहाडी क्षेत्र में गुलदार या इस प्रजाति के अन्य वन्य जीवों को अमूमन बाघ नाम से ही पुकारा जाता है।

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्सक्राइब करें