उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड

प्लस अप्रोच फाउंडेशन का 7वां वार्षिक सकारात्मकता पर वैश्विक सम्मेलन सम्पन्न,महिला मंगल दल मटीला और नौला को मिला सामाजिक परिवर्तन अवार्ड

नई दिल्ली, 19 दिसंबर 2021,

प्लस एप्रोच फाउंडेशन के तत्वाधान में सकारात्मकता और पीक अवार्ड समारोह 2021 सम्पन्न हो गया है। स्कोप कन्वेंशन सेंटर, नई दिल्ली में आयोजित इस एक दिवसीय कार्यक्रम में संकट के क्षण और सकारात्मक सोच के माध्यम से इसे दूर किए जाने पर विचार विमर्श किया गया।

Pithoragarh- स्थापना दिवस पर कांग्रेस के योगदान और विकास पर चर्चा

इंटरएक्टिव सेशन के बाद, डॉ एके ट्रांसफॉर्मेशन एकेडमी- “सारथी” का शुभारंभ श्रेष्ठा एनर्जी एकेडमी के सहयोग से किया गया। इसके बाद अनहद बैंड ने दृष्टिबाधित बच्चों और असीम अब्बासी (बॉलीवुड गीतकार और कवि) ने अपना कार्यक्रम प्रस्तुत किया जिसको सभी लोगों ने बहुत सराहा ।

जलवायु परिवर्तन से पनपी घटनाओं में 2021 में दुनिया को हुआ $ 1.5 बिलियन का नुकसान


प्लस एप्रोच फाउंडेशन के मेंटर
डॉ. आशुतोष कर्नाटक द्वारा गढ़ी गई सकारात्मक, प्रेरित और सशक्त (पीआईई गांव) की अवधारणा को मटीला गांव, अल्मोड़ा, उत्तराखंड में मॉडल गांव का प्रदर्शन करने के लिए लागू किया गया। कार्यक्रम में अल्मोड़ा के मटीला से आये गजेंद्र पाठक, बच्चे मुन्नी भंडारी एवं प्रेमा बिष्ट ने अब तक किये गये कार्यों के बारे में जानकारी दी।

nitin communication

ब्रेकिंग : यहां कुएं में गिर गया गुलदार, लोगों की भीड़ उमड़ी


कार्यक्रम के बारे में बताते हुए प्लस एप्रोच फाउंडेशन के अध्यक्ष आरसी गुप्ता ने बताया कि पीक (प्रयास एक और कदम, एक और कदम जब आप असफल होते हैं) एक ऐसा कार्यक्रम है जिसकी कल्पना उन आम लोगों का संगम बनाने के लिए की जाती है, जिन्होंने अपने जीवन में सकारात्मक बदलाव का अनुभव किया है।कहा कि यह एक ऐसा मंच है जहां लोग साझा करते हैं कि कैसे उन्होंने अपने साधारण जीवन को एक असाधारण यात्रा में ढाला है। वह उन्हें आत्म-विश्वास और विश्वास विकसित करने के लिए प्रोत्साहित करते हैं।

PM modi के काफिले में शामिल हुई ये 12 करोड़ की new car, खासियत जानकर उड़ जाएंगे होश

वह उन्हें आशा और समग्र सफलता के साथ अपने व्यक्तिगत और व्यावसायिक जीवन को आकार देने के लिए प्रेरित करते हैं। बताया कि, “इस कॉन्क्लेव का मुख्य उद्देश्य स्वयं, समाज और राष्ट्र के सतत विकास के लिए जनता के बीच सकारात्मक दृष्टिकोण का प्रसार करना है। कहा कि एक साथ हम सभी को सक्षम बना सकते हैं ताकि वह “हां, मैं कर सकता हूं”, हां हम कर सकते है” की भावना से सकारात्मक सोच से स्वयं, समाज और राष्ट्र को खुशहाल बना सकें।

इस मौके पर समाज सेवा मे उत्कृष्ट कार्यों के लिये एवं सकारात्मक सोच को अपनाने तथा आगे बढाने वाले व्यक्तियों तथा संस्थाओं को अवार्ड भी दिये गये। डॉ सीआर प्रसाद, पूर्व चेयरमैन ( गेल) को हाइड्रोकार्बन सेक्टर में उनके अभूतपूर्व योगदान के लिए दधीचि अवार्ड से सम्मानित किया गया।


मीनाक्षी शाही को गरीब वर्ग के बच्चो की शिक्षा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए एवं गौतम झा, निगत को भी “विदुषी यस आई कैन” अवार्ड से सम्मानित किया गया

इस अवसर पर मुकुल राज एवं हिमांशी को 25000 रुपए के विशेष एसके शाही पाई स्टूडेंट अवार्ड से सम्मानित किया गया।


सामाजिक परिवर्तन अवार्ड के लिए इस बार महिला मंगल दल मटीला एवं नौला, जिला अल्मोड़ा को जंगलो की आग रोकने में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए, असीम आशा फाउंडेशन और शिखर फाउंडेशन को गरीब एवं पिछड़े वर्ग के बच्चो के उत्थान में योगदान के लिए चुना गया।

सकारात्मक सोच परिवर्तन अवार्ड के लिए सुशील कुमार, नीता अवस्थी, एके मनचंदा, एवं सूरज प्रकाश को दिया गया। इस अवसर पर सकारात्मक सोच को आगे बढाने और उसके प्रसार के लिए सकारात्मक सोच अम्बेसडर अवार्ड और सर्टिफिकेट भी दिए गए। कहा गया कि सकारात्मकता की आवश्यकता ने हम सभी पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाली कोरोना महामारी के बाद और अधिक महत्व प्राप्त कर लिया है। मुश्किल समय में सकारात्मकता ही हमें आगे ले जाने की ताकत रखती है।”

प्लस अप्रोच फाउंडेशन के बोर्ड सदस्य शमशेर बहादुर ने कहा कि पीएएफ एसडीजी-0 पर ऑनलाइन कार्यक्रम शुरू करने जा रहा है: 22 जनवरी, 2022 से सकारात्मक सोच की प्रक्रिया और एसडीजी-0 को औपचारिक रूप से शामिल करने के लिए संयुक्त राष्ट्र-भारत, जीसीएनआई, यूएन-जिनेवा को इस प्रस्ताव को भेजने की योजना है।

कार्यक्रम में पीएएफ के अध्यक्ष आरसी गुप्ता, ट्रस्टी हेम पंत, प्रसिद्ध सुपर 30 के आनंद कुमार, दीपेंद्र पाठक, (एसपी सीपी, कानून और व्यवस्था दिल्ली पुलिस), सीआर प्रसाद, (पूर्व सीएमडी, गेल), मनोज जैन (सीएमडी गेल), वर्तिका शुक्ला (सीएमडी, ईआईएल), दिलीप कुमार पटेल (निदेशक (एचआर), एनटीपीसी), डॉ प्रफुल आर नाइक (प्रशाक टेक्नो एंटरप्राइज), विजय कुमार यादव (सहायक प्रोफेसर, बुसान विश्वविद्यालय, दक्षिण कोरिया), मोना पुरी, (संस्थापक सुमीत फाउंडेशन), एस. रविशंकर (सीईओ, सेरेस्टा एनर्जी एकेडमी) और अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

Related posts

Uttarakhand- ‘माधो सिंह भंडारी’ की प्रासंगिक प्रस्तुति

Newsdesk Uttranews

उत्तराखंड में Corona के मामलों में गिरावट, आज मिले 42 नए केस

Newsdesk Uttranews

नगर व्यापार मंडल में महिला उपाध्यक्ष पर सीधी टक्कर,एक प्रत्याशी का नामांकन रद जांच के बाद मैदान में रहे 21 प्रत्याशी

Newsdesk Uttranews
error: Content is protected !!