Ntcp

Knowledge of side effects of tobacco consumption given in NTCP workshop

अल्मोड़ा, 02 जनवरी 2021
राष्ट्रीय तम्बाकू नियंत्रण कार्यक्रम (NTCP) को लेकर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला में मौजूद लोगों को तंबाकू सेवन के दुष्प्रभावों व इसकी रोकथाम के लिए संबंधित कानूनों की जानकारी दी गई।

कोविड-19 के चलते सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य विकास अधिकारी नवनीत पाण्डे द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। उन्होंने तम्बाकू के दुष्प्रभाव पर चर्चा करते हुए बताया कि मुुंह के कैंसर का सबसे बढ़ा कारण तम्बाकू है, तम्बाकू के प्रयोग से ब्रेन स्ट्रोक, हार्टअटैक सहित कई समस्यायें जन्म लेती है इसके लिए लोगो को तम्बाकू (NTCP) के दुष्प्रभाव के बारे में अधिक से अधिक जागरूक करना होगा।

कार्यशाला में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. सविता हृयांकी ने कहा कि पूरे देश में प्रतिवर्ष 13 लाख व्यक्तियों की मौत तम्बाकू से होती है। उन्होंने तम्बाकू के सेवन से होने वाले दुष्प्रभाव व बीमारियों के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने प्रतिदिन एक घण्टा व्यायाम, योग एवं मौसमी फल खाने की सलाह लोगों को दी।

अल्मोड़ा के कुष्ठ आश्रम (leprosy ashram) में जरूरतमंदो को बांटी रजाइयां

इस कार्यशाल में तम्बाकू नियंत्रण को लेकर एनटीसीपी कार्यक्रम के सदस्य बालाजी सेवा संस्थान राज्य कार्यक्रम प्रबन्धक ममता थापा ने पाॅवर पांइट के माध्यम से तम्बाकू के दुष्प्रभाव के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने एनटीसीपी की सिगरेट एवं अन्य तम्बाकू उत्पाद कानून (कोटपा एक्ट) के बारे में बताया। बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर धूम्रपान प्रतिबन्धित है।

इस कार्यशाला में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डाू. योगेश पुरोहित, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी/नोडल एनसीबी डॉ. अनिल ढिंगरा, खण्ड विकास अधिकारी हवालबाग पंकज काण्डपाल, डॉ. अखिलेश, डॉ. ललित नेगी सहित एनसीबी, समस्त विभागों के अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।

अल्मोड़ा के इस डोसा कार्नर (dosa corner) में मिलेगा साउथ का टेस्ट

कृपया हमारे youtube चैनल को सब्क्राइब करें

https://www.youtube.com/channel/UCq1fYiAdV-MIt14t_l1gBIw/