विक्षिप्त युवक को सड़क से उठाकर जंगल ले गया बाघ, 1 दिन बाद शव हुआ बरामद

Newsdesk Uttranews
3 Min Read

रामनगर। कॉर्बेट नेशनल पार्क से सटे नेशनल हाइवे से बाघ ने एक विक्षिप्त युवक को उठाकर जंगल में ले जाकर अपना शिकार बना डाला। सोमवार देर रात इस घटना की जानकारी मिलने पर वनकर्मियों की टीम ने विक्षिप्त की तलाश में अभियान चलाया। काफी खोजबीन के बाद विक्षिप्त व्यक्ति का शव मंगलवार की सुबह बरामद हो गया।


घटना की जानकारी देते हुए डीएफओ कुंदन कुमार ने बताया कि स्थानीय लोगों के अनुसार यह विक्षिप्त व्यक्ति पिछले कई दिनों से इसी क्षेत्र में घूमता दिख रहा था और उसको कई बार कर्मचारियों ने जंगल में जाने से भी रोका था।


डीफएओ ने बताया कि सोमवार की रात को बाघ के हमले के बाद इस विक्षिप्त व्यक्ति की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि विक्षिप्त व्यक्ति के शव का पोस्टमार्टम कराने के साथ ही विभाग द्वारा नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। वहीं घटना के बाद इलाके में हड़कंप की स्थिति है।


बता दे कि कॉर्बेट नेशनल पार्क और रामनगर वन प्रभाग के घने जंगल के बीच से नेशनल हाइवे गुजरता है। जो रामनगर को कुमाऊं और गढ़वाल मंडल के पर्वतीय क्षेत्र से जोड़ता है। इस नेशनल हाइवे से सटे जंगल की वजह से बाइक अथवा पैदल गुजरना खतरनाक माना जाता है। कई हादसे इस जगह पर पहले भी हो चुके हैं।

बाघ के हमले की ताजा घटना सोमवार देर 7:30 बजे के आस पास की है। जब इस इलाके में घूमने वाले एक विक्षिप्त युवक पर धनगढ़ी नाले से थोड़ा आगे सड़क के एक मोड़ पर एक बाघ ने सड़क किनारे ही हमला कर दिया। हमलावर बाघ युवक को अपने जबड़े में दबाकर जंगल की तरफ ले गया।


इस मामले की खबर जब कुछ राहगीरों को हुई तो उन्होंने इसकी सूचना वनकर्मियों को दी। वनकर्मियों की टीम रात में विक्षिप्त की तलाश में जुट गई। लेकिन अंधेरा अधिक होने के कारण देर रात अभियान को रोक दिया। युवक की तलाश में मंगलवार की सुबह से ही कॉर्बेट टाइगर रिजर्व की सर्पदुली रेंज व रामनगर वन प्रभाग की कोसी रेंज के वन कर्मियों ने जंगल में सघन अभियान चलाया। मंगलवार को उसका शव बरामद हो गया।


इधर इस घटना के बाद कॉर्बेट से सटे क्षेत्र में दहशत पसर गई है। मोहान, चुकुम, सुन्दरखाल आदि क्षेत्रों के ग्रामीण बाघ की इस बार की दस्तक से अपनी सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं।