ऐसे में कैसे पढ़ेंगे और बढ़ेंगे बच्चे? विश्वविद्यालयों, IIT, IIM में शिक्षकों के 11 हजार पद खाली

editor1
1 Min Read

दिल्ली। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने संसद सत्र के दौरान उच्च शिक्षण संस्थानों में शिक्षकों की कमी के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई है। उनके मुताबिक, देशभर के अलग-अलग केंद्रीय विश्वविद्यालयों, आईआईटी और आईआईएम जैसे संस्थानों में 11 हजार फैकेल्टी पद खाली हैं। प्रधान ने सोमवार को लोकसभा को यह जानकारी दी। देश में ‘पढ़ेगा इंडिया तो बढ़ेगा इंडिया’ अभियान के बीच यह चौंकाने वाले आंकड़े हैं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री का कहना है कि उच्च शिक्षण संस्थानों में पद रिक्त होना और उन्हें भरा जाना एक सतत प्रक्रिया है।

शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक, 45 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में 18,956 स्वीकृत पद हैं। इनमें से प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर और असिस्टेंट प्रोफेसर के कुल 6180 पद खाली हैं। वहीं यदि देश के आईआईटी यानी कि भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों की बात की जाए तो यहां कुल 11,170 स्वीकृत पद हैं। इनमें से 4,502 पद खाली हैं। इसी तरह भारत के प्रबंधन संबंधी शीर्ष शिक्षण संस्थानों यानी आईआईएम में शिक्षकों के 1,566 पदों में से 493 पद खाली हैं।

Sticky AdSense Example

Sticky AdSense Example

Content goes here. Scroll down to see the sticky ad in action.

More content...