News-web

45 दिनों से टॉयलेट में बंद था शख्स, भूखे रहकर मौत का कर रहा था इंतजार, यह दर्द भरी सुनकर आपकी भी आंखों में आ जाएगा पानी

Published on:

हरियाणा के पानीपत से 45 साल के एक शख्स ने 45 दिन पहले खुद को टॉयलेट में बंद कर लिया और इस दौरान उसने अनाज का एक दाना भी नहीं खाया। बस वह पानी पीता रहा और वह मरना चाहता था लेकिन उससे पहले कुछ लोग मसीहा बनकर आए और उसका रेस्क्यू किया फिर उसे सच ने अपनी पूरी दर्द भरी कहानी सुनाई। जिसे सुनकर आपकी आंखों में भी पानी आ जाएगा।

45 साल के सुरेंद्र उर्फ शैंटी ने बताया कि मतलौडा के पंजाबी मोहल्ला में उनका भरा पूरा परिवार था। उसकी बड़ी बहन की बचपन में ही मौत हो गई थी जबकि बड़ा भाई विजय मानसिक रूप से कमजोर था। चारों भाई बहनों में से किसी की भी शादी नहीं हुई। उसके पिता लखीम चंद छोले भटूरे और आइसक्रीम बेचकर घर चलते थे।

12 साल पहले उनकी भी मौत हो गई। दूसरे नंबर का भाई अशोक एक लोन एजेंट के चक्कर की वजह से कर्जदार हो गया और 5 साल पहले वह घर से कहीं चला गया। उसकी मां फूला देवी थी कोरोना में मर गई। तीसरे नंबर का भाई राजकुमार का हिमाचल प्रदेश में हैंडलूम का काम चल रहा है जो तीन माह पहले ही मतलौडा आया था लेकिन अज्ञात कारणों से उसकी भी मौत हो गई।

बस इसी बात का सदमा सुरेंद्र को लग गया। इसके बाद उसकी भी जीने की इच्छा खत्म हो गई। वो भी अब मरना चाहता था। इसलिए उसने खुद को टॉयलेट में बंद कर लिया। उसे बाहर की आवाज से भी नफरत हो गई थी।

उसका भाई विजय जो मानसिक रूप से कमजोर है। वह भी घर में कई दिनों से भूखा प्यासा यूं ही पड़ा है। कभी कबार वह रोटी मांग कर खा लेता था पड़ोसियों ने समाज से भी संस्थान को इस बारे में बताया उन्होंने मकान की छत पर चढ़कर दोनों भाइयों का रेस्क्यू किया।

मल-मूत्र से भरे थे कपड़े

जन सेवा दल के चमन गुलाटी ने बताया कि जब दोनों भाइयों को रेस्क्यू किया गया, तो उनके कपड़े मल-मूत्र से भरे हुए थे। बदबू से अंदर घुसना भी मुश्किल हो रहा था। साफ-सफाई के बाद जनसेवा दल के सदस्य दोनों भाइयों को आदर्श नगर स्थित अपना आशियाना लेकर आए।

यहां सोमवार सुबह उन्हें स्नान कराया और खाना खिलाया गया। इस दौरान विजय ने दो रोटी खाई, लेकिन सुरेंद्र 45 दिन लगातार भूखा रहने के चलते एक रोटी भी मुश्किल से खा सका। उनकी चिकित्सक से भी जांच कराई गई है। चिकित्सक ने लंबे समय तक खाना न खाने के चलते पाचन शक्ति कमजोर होना कारण बताया है अब दोनों भाई जन सेवा दल के आशियाना में ही रहेंगे।