shishu-mandir

Inspired news: सीमान्त इंजीनियरिंग कालेज पिथौरागढ़ के छात्रों ने बनाया रिन्यूऐबल एनर्जी संयंत्र (energy plant)

editor1
2 Min Read
Screenshot-5

new-modern
gyan-vigyan

Students of Frontier Engineering College Pithoragarh built renewable energy plant

saraswati-bal-vidya-niketan

पिथौरागढ़ , 06 जुलाई 2022- नन्ही परी सीमान्त इंजीनियरिंग कालेज, पिथौरागढ़ के इलैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के छात्रों द्वारा प्राकृतिक ऊर्जा के स्त्रोतों जैसे वायु, पानी, सौर ऊर्जा एवं बायोगैस के एकीकरण करने के उपरान्त रिन्यूऐबल एनर्जी ग्रिड का एक कार्यरत चालित माॅडल (energy plant)का निर्माण किया है।


विभागाध्यक्ष अखिलेष सिंह ने बताया कि इस energy plant के उपयोग से रोजमर्रा में प्रयुक्त होने वाले कोयले, न्यूक्लियर आदि संसाधनों पर निर्भरता कम होगी। जिससे प्रतिदिन बनने वाली बिजली पर निर्भरता कम होगी।


इस सयंत्र में प्राकृतिक रूप से प्रयुक्त होने वाली हवा, पानी, सौर ऊर्जा एवं बायोगैस का संयुक्त रूप से उपयोग करके प्रतिदिन बिजली का उपयुक्त उत्पादन किया जा सकता है। जिलाधिकारी डाॅ0 आषीष चैहान द्वारा इस माॅडल का निरीक्षण किया गया है एवं इस माॅडल को पहाड़ों के लिए उपयोगी बताया गया है।

energy plant
energy plant


संस्थान के इलैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग विभाग के विभागाध्यक्ष अखिलेष सिंह के कुशल नेतृत्व में इस माॅडल (energy plant)का कार्य सम्पन्न हुआ है। छात्रों में अभिषेेक, त्रिवेन्द्र, नेहा, अनिल, चन्द्रषेखर, दीपक, चिराग एवं अन्य छात्रों का इस माॅडल को बनाने में सहयोग रहा।


विभागाध्यक्ष अखिलेष सिंह ने बताया कि यह एकीकरण राज्य के संस्थानों में प्रथम बार किया गया है। जिलाधिकारी के प्रयासों से संस्थान उन्नति के मार्ग पर लगातार अग्रसर है। जिलाधिकारी महोदय द्वारा इस सराहनीय कार्य के लिए छात्रों एवं अध्यापकों को बधाई दी है।