News-web

नासिक के सोना कारोबारी के घर से बरामद हुए 26 करोड रुपए, 30 घंटे तक चली आयकर विभाग की रेड

Published on:

नासिक 26 में महाराष्ट्र के आयकर विभाग में सर्राफा व्यापारियों की दुकानों और डेवलपर्स के कार्यालय पर छापेमारी की। लगातार 30 घंटे तक चली इस छापेमारी में टीम ने 26 करोड रुपए की नदी और 90 करोड रुपए की बे हिसाब संपत्ति के दस्तावेज जब्त किए।

बताया जा रहा है कि नासिक, नागपुर, जलगांव की टीम ने यहां कार्यवाही की है। 50 से 55 अधिकारियों ने ज्वेलर्स के परिसर के साथ-साथ उनके रियल स्टेट वेबसाइट के कार्यालय पर भी छापा मारा। उनके आलीशान बंगले पर एक स्वतंत्र टीम में निरीक्षण किया।

शहर के विभिन्न स्थानों पर उनके कार्यालय, निजी लॉकर और बैंकों के लॉकर की भी जांच की गई। मनमाड और नंदगांव में उनके परिवार के सदस्यों के घरों की भी तलाशी ली गई।

नासिक के इस सर्राफा कारोबारी के पास से करोड़ों की नदी और पर हिसाब संपत्ति मिलने के बाद अब हर जगह  हडकंप मच गया है। बताया जा रहा है कि आयकर विभाग की कार्यवाही में जो नगदी मिली उसे गिनने में 14 घंटे लगे।

सूत्रों के अनुसार, यह छापेमारी अघोषित आय और संभावित रूप से संदिग्ध वित्तीय गतिविधियों की व्यापक जांच का हिस्सा है। आयकर विभाग किसी भी विसंगति या छिपे हुए लेन-देन को उजागर करने के लिए सुराना ज्वैलर्स और महालक्ष्मी बिल्डर्स दोनों के रिकॉर्ड की जांच कर रहा है।