उत्तरा न्यूज
अभी अभी

Online game खेलने से बच्चों पर हो रहा है बुरा असर, यहां free fire game ‌के शौकीन पांचवी class के बच्चे ने की आत्महत्या

Big news: Ministry of Education issued advisory to children to avoid dangers of online games

राजधानी भोपाल से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई है। एक पांचवीं क्लास के छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। बेटे की मौत के बाद परिजन सदमे में हैं। माता-पिता का कहना है कि बच्चा mobile में फ्री Free Fire Game खेलने का शौकीन था। Parents ने police को बताया कि mobile के अलावा TV में भी वो game खेलता था।

Almora:पुलिस ने चैकिंग के दौरान बरामद की 7 किग्रा चांदी के जेवर

इसके आगे उन्होंने कहा कि Game का बेटे पर इस कदर जुनून सवार था कि उसने game fighter की dress भी खुद ही online मंगाई थी। आपको बता दें कि Police को मौके से किसी तरह कोई sucide note नहीं मिला है।

किस bank account से linked है आपका आधार कार्ड जानना हुआ आसान, बस एक click में इस तरह करें पता

क्या है पूरा मामला
शंकराचार्य नगर बजरिया में रहने वाले योगेश ओझा optical की दुकान चलाते हैं। सुर्यांश उनका 11 साल का इकलौता बेटा था. सूर्यांश सेंट जेवियर स्कूल अवधपुरी में पांचवीं class में पड़ता था। बुधवार दोपहर वो अपने चचेरे भाई आयुष के साथ दूसरी मंजिल के कमरे में बैठकर TV में film देख रहा था।

भारत की पहली स्वदेशी vaccine Covaxin को लेकर हुआ बड़ा ऐलान, भारत बायोटेक ने किया ये दावा

nitin communication

इसी बीच, आयुष किसी काम से नीचे आ गया। थोड़ी देर बाद जब चाचा के बच्चे खेलने के लिए तीसरी मंजिल की छत पर पहुंचे तो देखा वहां, boxing ring में रस्सी के फंदे पर सूर्यांश लटका हुआ था।

अस्पताल जाने से पहले हुई मौत

जब बच्चों ने सूर्यांश को लटका देखा तो उन्होंने फौरन परिजनों को बताया। परिवार के लोग उसी समय सुर्यांश को private hospital लेकर पहुंचे, लेकिन hospital पहुंचने से पहले उसकी मौत हो चुकी थी। Doctor ने chcek करते ही बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

Mobile की जांच करेगी police

सुर्यांश के पिता योगेश ने police को बताया कि बच्चा mobile में free fire game खेलता था। इसके अलावा जब कभी TV देखता था, वह game वाले serial ही देखता था। ज्यादातर समय वो game में ही लगाता था। पिता ने कहा कि हम सब उसे game खेलने के लिए मना भी करते थे। पर वो किसी की बात सुनता नहीं था। Police सूर्यांश के mobile की भी जांच करेगी। जिससे यह पता चले कि कहीं उसे game में target तो नहीं दिया गया। योगेश के तीन भाई हैं सभी joint family में रहते हैं।

3 महीने पहले भी की थी suicide की कोशिश

Police के मुताबिक करीब 3 महीने पहले भी सूर्यांश ने suicide का प्रयास किया था। वह फांसी लगाने की तैयारी कर रहा था, इससे पहले मां पहुंच गई। उन्होंने उसे बचा लिया। इस पर मां ने उसे फटकार भी लगाई थी। ज्यादातर सुर्यांश game खेलने के लिए अपने दादा का ही mobile लेता था।

Related posts

अल्मोड़ा व्यापार मंडल चुनाव : 85 प्रतिशत रहा मतदान, मतगणना थोड़ी देर में

Newsdesk Uttranews

साहस: पिछले 18 सालों से लगातार कैलाश मानसरोवर की यात्रा कर रहे राकेश जुनेजा

Newsdesk Uttranews

अभिव्यक्तियों को मंच देगी युवाओं की ‘धुन’,बागेश्वर में गठित किया गया युवाओं का ग्रुप

Newsdesk Uttranews
error: Content is protected !!