News-web

एमपी का मोस्ट वांटेड हुलिया बदलकर पहुंच अयोध्या रामलला के दर्शन के लिए फिर पुलिस ने पकड़ा ऐसे

Published on:

हत्या और हत्या के प्रयास समेत कई मामलों में फरार घोषित मोस्ट वांटेड बदमाश किशोर उर्फ किस्सू तिवारी को मध्य प्रदेश पुलिस ने उत्तर प्रदेश के अयोध्या से गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि किशोर तिवारी पर कटनी समेत जबलपुर पुलिस ने 55000 का इनाम भी घोषित कर रखा था। पुलिस लंबे वक्त से अपराधी की तलाश कर रही थे किंतु वह पुलिस को लगातार चकमा दे रहा था।

SP अभिजीत रंजन ने बताया, किशोर उर्फ किस्सू तिवारी कटनी समेत जबलपुर पुलिस के लिए मोस्ट वांटेड था तथा कई वर्षों से फरार चल रहा था। उस पर 55 हजार रुपए का इनाम घोषित था। अपराधी की गिरफ्तारी के लिए पांच टीवी भी बनाई गई थी और देश के विभिन्न स्थानों पर दबिश भी दी गई थी। मुखबिर की खबर मिलने पर उत्तर प्रदेश अयोध्या से किस्सू तिवारी को गिरफ्तार किया गया किस्सू को अपने परिवार के साथ रामलला के दर्शन के लिए अयोध्या पहुंचा था। इसकी गिरफ्तारी बड़ी सफलता है अलग-अलग जगह पर आरोपी के कई मामले दर्ज हैं फरारी के चलते किस्सू जयपुर, हरिद्वार, हिमाचल, उत्तराखंड राज्य में कई स्थानों पर रहा है।

कटनी पुलिस ने ₹10000 के इनाम का ऐलान किया था जिसे आईजी ने बढ़कर ₹30000 कर दिया था और जबलपुर पुलिस की ओर से ₹25000 का इनाम का ऐलान किया गया था। कुल मिलाकर ₹55000 का इनाम घोषित किया गया था। बदमाश किशोर और किशोर तिवारी का आपराधिक रिकार्ड काफी पुराना है किस्सू ने सबसे पहला अपराध वर्ष 1979 में किया था। अपराधी पहले 1992 में फरार हुआ था जिसे 2015 में गिरफ्तार किया गया। कुछ वक़्त जेल में रहने के पश्चात यह पुनः फरार हो गया था। 

साधु महात्मा जैसा अपना ड्रेसअप कर रखा था तथा बहुत ही शातिर किस्म का अपराधी है। कटनी जबलपुर एवं इंदौर में किस्सू तिवारी के खिलाफ मामले दर्ज हैं। कटनी में कोतवाली थाना अंतर्गत हत्या के एक मामले में स्थाई वारंट कोर्ट ने जारी किया है। जबलपुर कोतवाली में भी 302 के मामले में यह वांछित अपराधी है तथा वारंट जारी है। इसकी सुनवाई उच्च न्यायालय में चल रही है।