उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड

100 से ज्यादा सीसीटीवी की जांच,पुलिस ने गाजियाबाद जाकर किया खुलासा,अल्मोड़ा के टैक्सी चालक का शव मिला था खटीमा में

nvestigation of more than 100 CCTVs,police went to Ghaziabad and revealed the case

खबरें अब पाए whatsapp पर
Join Now

7 मार्च को खटीमा के चकरपुर के जंगल में मिले अल्मोड़ा के वाहन चालक के शव के मामले का खटीमा पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस की जांच में यह हिट एंड रन का मामला आया है।

पुलिस ने इस मामले में आरोपी वाहन चालक को गिरफ्तार कर लिया है। अल्मोड़ा के रेस्टोरेंट मालिक की हत्या मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। पुलिस की जांच में यह मामला हत्या नही बल्कि हिट एंड रन का निकला है। मामले में पुलिस ने एक टैक्सी चालक को गिरफ्तार किया है।


बताते चले कि विगत 7 मार्च को ऊधमसिंह नगर जिले के खटीमा थाना क्षेत्र में चकरपुर के पास एक शव बरामद हुआ था। पुलिस की जांच में शव की शिनाख्त अल्मोड़ा जिले के भैसियाछा विकासखण्ड के कांचुला गांव के निवासी देवेंद्र सिंह बिष्ट के रूप में हुई थी।
मृतक देवेंद्र सिंह बिष्ट एक रैस्टोरेंट भी संचालित करता था और वह घटना से दो दिन पहले बुकिंग लेकर नैनीताल गया था और घर नही लौटा। बाद में खटीमा के चकरपुर से उसकी मौत की सूचना आयी थी।


पुलिस ने इस मामले में अपनी जांच शुरू कर दी थी। पुलिस जांच में इस घटना के पीछे हिट एंड रन का मामला सामने आया। अपर पुलिस अधीक्षक ममता बोरा ने खटीमा में इस मामले का खुलासा किया। बताया कि पुलिस की जांच में यह मामला हत्या का नहीं अपितु हिट एंड रन का पाया गया।

अपर पुलिस अधीक्षक ममता बोरा ने बताया कि 7 मार्च की रात को देवेंद्र बिष्ट ने चकरपुर के जंगल में वाहन को खड़ा किया और वह शीशे की धूल साफ करने लगा। अचानक विपरीत दिशा से तेज गति से आ रहे महिंद्रा क्वांटो वाहन को चला रहे धारचूला निवासी मदन बोरा ने वाहन से उसे टक्कर मार दी। टक्कर से देवेंद्र की मौत हो गई जबकि वाहन चालक मौके से फरार हो गया।पुलिस ने इस मामले में आरोपी चालक मदन बोरा को गिरफ्तार कर लिया है।

अपर पुलिस अधीक्षक ममता बोरा ने बताया कि 7 मार्च को पुलिस को सूच​ना​ मिली थी ​कि चौकी चकरपुर क्षेत्र में चकरपुर शिव मन्दिर से आगे सानिया नाले के पास एक व्यक्ति बेहोशी की हालत में पड़ा हुआ है। सूचना पर चौकी चकरपुर से चौकी प्रभारी उ०नि० सदीप पिलखवाल मय फोर्स के मौके पर गये तब तक घायल व्यक्ति ने दम तोड़ दिया था।

इसके बाद वरिष्ठ उप निरीक्षक देवेन्द्र गौरव ने फोर्स के साथ घटनास्थल पर जाकर मौका मुआयना कर शव की शिनाख्त उसकी जेब में पड़े आधार कार्ड से की। आधार कार्ड में उसका नाम पता देवेन्द्र सिंह बिष्ट पुत्र मदन सिंह बिष्ट निवासी ग्राम काचुला पोस्ट-धौलछीना जिला अल्मोडा उम्र 34 वर्ष अंकित था। इसकी सूचना पुलिस ने उसके परिजनों को दी।। इसके मृतक के भाई पदम सिंह पुत्र मदन सिह बिष्ट निवासी ग्राम कांचुला पोस्ट-धौलछीना जिला अल्मोड़ा ने इस मामले में तहरीर दी। इसके बाद आईपीसी की धारा 302 पंजीकृत की गयी।


पुलिस ने मामले के खुलासे के लिए कई टीम गठित की। पुलिस की जांच में पता चला कि 5 मार्च को मृतक अपने इनोवा वाहन यूके 01 टीए 1423 से अल्मोड़ा से बनबसा बुकिंग लेकर आया था और UKO1TA 1423 में अल्मोडा से 3 दिन की बुकिंग में बनबसा आया था और उसने उस दि रात्रि विश्राम बनबसा में किया। अगले दिन 6 मार्च को देवेंद्र सिंह इनोवा वाहन में काम करवाने के लिए हल्द्वानी गया और वहां से वाहन से बनबसा कि लिए निकला। 6 मार्च की शाम को उसने शाम 7:55 बजे खटीमा टोल को पार किया लेकिन बनबसा नही पहुंचा और 7 मार्च को देवेन्द्र सिंह का शव सानिया नाले के पास एनएच-124 के किनारे बरामद हुआ।


पुलिस की जांच में घटनास्थल के आस पास बारीकी से जांच करने पर एक दाहिना साईड रियर व्यू मिरर कन्सोल मिला, और इसके घटनास्थल पर होने से पुलिस को संदेह हुआ। जांच में पता चाल कि वह कन्सोल महेन्द्रा क्वांटो वाहन का है। इसके बाद पुलिस की कई टीमो ने हल्द्वानी से बनबसा के बीच लगभग 100 से ज्यादा सीसीटीवी कैमरो की जांच की तो सच सामने आ ही गया।

पुलिस ने इस मामले धारचूला निवासी वाहन चालक को गिरफ्तार कर लिया। सीसीटीवी जांच में पता चला कि देवेंद्र सिंह हल्द्वानी से चकरपुर तक अकेले ही अपनी गाड़ी में आया था। उसके वाहन ने 6 मार्च की शाम को 8:28 बजे चकरपुर चौकी को पार किया था और इसी एक संदिग्ध महेन्द्रा क्वांटो वाहन इसके 4 मिनट बाद यानि 8:32 बजे बनबसा की ओर से आकर चकरपुर चौकी पार करता दिखाई दिया। पुलिस ने जब जांच को आगे बढ़या जो कई अन्य सीसीटीवी फुटेज में उक्त महिन्द्रा क्वांटो वाहन की दाहिनी हेड लाईट व दाहिने साईड का रियर व्यू मिरर टूटा हुआ दिखाई दिया। पुलिस ने उक्त वाहन के नंबर को ट्रेस किया। उक्त वाहन नंबर DL82 AC 0251 ने खटीमा टोल समय शाम 8:48 बजे रूद्रपुर की ओर गया और इस पर फास्ट टैग लगा हुआ था।

इसके बाद फास्ट टैग की जांच करने यह फास्ट टैग आईडी आई०डी०बी०आई० बैंक से सम्बन्धित पायी गयी। पुलिस ने आईडीबीआई बैंक से पतचा किया तो पता चला कि यह फास्ट टैग भीम सिह त्यागी पुत्र जयपाल सिंह निवासी डिडोली थाना मुरादनगर, जिला गाजियाबाद के नाम पर है और उसका फोन नंबर पता कर पुलिस ने तस्दीक की तो घटना के दौरान यह फोन नंबर वही होने का पता चला। जांच में पता चला कि यह वाहन 6 मार्च को पिथौरागढ़ की ओर से आया था।


पुलिस ने इसके बाद जांच की दिशा मुरादनगर की ओर कर दी और मुरादनगर जाकर भीम सिंह के उक्त पते पर जाकर पूछताछ की और मामले का खुलासा कर दिया। जांच में पता चला कि भीम सिंह त्यागी अपने क्वांटो वाहन से परिवार सहित पिथौरागढ़ जिले के बलूवाकोट में अपनी ससुराल से अपने घर डिडौली जनपद गाजियाबाद आ रहा था । वाहन को उसका रिश्तेदार मदन सिह बोरा पुत्र स्व० देव सिंह निवासी पईयापोडी, थाना बलवाकोट, तहसील धारचूला जिला पिथौरागढ उम्र 36 वर्ष चला रहा था।

जांच में यह बात सामने आई कि चकरपुर के जंगल में गाड़ी के शीशे में धूल आ हुई और धूल हटाने के लिये चालक ने पानी की बोतल से चलते वाहन में बाहर निकलकर शीशे में पानी डाला। जिस कारण वाहन से उसका कन्ट्रोल हट गया।

इसी बीच दौरान देवेन्द्र सिंह भी चकरपुर जंगल में वाहन को सड़क किनारे खड़ा कर उतरा ही था कि क्वांटो वाहन ने उसे टक्कर मार दी। टक्कर सीधे व्यक्ति को लगी श्री जिस कारण छिटककर वह काफी दूर गिर गया। क्वान्टो वाहन चालक अपने वाहन को वहां पर न रोकते हुये मौके से भाग गया। मौके से भागकर वह क्वांटो वाहन को वह सीधे रामपुर अपनी रिश्तेदारी में से गया जहां उसने वाहन को रिपेयर करवाया।

पुलिस भीम सिंह त्यागी द्वारा वाहन रिपेयर किये गए वर्कशाप में जाकर तथ्यों का मिलान कर पुष्टि की। पुलिस ने बताया कि प्रथम दृष्टया यह मामला हत्या का प्रतीत हो रहा था इसके बाद पुलिस ने जांच कर इस मामले को हिट एंड रन में परिवर्तित कर चालक को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में घटनास्थल पर क्यान्टो वाहन का रियर व्यू मिरर मिलना एक महत्वूपर्ण सुराग साबित हुआ।

मामले का खुलासा करने वाली टीम मे नरेश चौहान प्रभारी निरीक्षक कोतवाली,दिनेश सिंह फर्त्याल, थानाध्यक्ष छनकईया खटीमा, देवेन्द्र गौरव निरीक्षक कोतवाली खटीमा, कमलेश भट्ट, प्रभारी एस०ओ०जी० रूदपुर, ललित मोहन रावल, फोतवाली खटीमा,धीरज वर्मा,संदीप पिलख्वाल, प्रभारी चौकी चकरपुर,पंकज महर, कैलाश सिह देव, होशियार सिंह, नासिर हुसैन,शान्ता लाल,हरीश जोशी,नवीन रजवार,चन्दर सिंह, मौ० मोहसिन, खीम गिरी,हरेन्द्र थापा,शहनवाज,प्रेम प्रकाश,पंकज बिनवाल,भूपेन्द्र आर्य,प्रभात चौधरी,गणेश पांडे ,ललित कुमार, प्रमोद कुमार शामिल रहे।

Related posts

दर्दनाक- इमारत गिरने (Building Collapsed) से 8 बच्चों समेत 11 लोगों की मौत , कई घायल

Newsdesk Uttranews

Almora::11वें दिन भी जारी रही आरके महासंघ की हड़ताल(strike)

Newsdesk Uttranews

फेसबुक का अर्थशास्त्र भाग – २