shishu-mandir

स्वास्थ्य मंत्री मांडविया का बयान-कोरोना की वजह से देश में बढ़ हार्ट अटैक के मामले

उत्तरा न्यूज डेस्क
2 Min Read
Screenshot-5

देश में लगातार हार्ट अटैक से लोगों की मौत हो रही है, यह हार्ट अटैक के मामले कोरोना वायरस की वजह से बढ़ रहे है यह बयान केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने जारी किया है। उन्होंने कहा कि जिन लोगों को पहले कोविड का सामना करना पड़ा उनमें हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट का रिस्क रहता है।

new-modern
holy-ange-school

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने आईसीएमआर के एक अध्ययन का हवाला देते हुए कहा कि जो लोग कोरोना वायरस से ग्रस्त हुए थे उन लोगों को दिल दौरे से बचने के लिए एक या दो साल तक जरूरत से ज्यादा मेहनत नहीं करनी चाहिए।

gyan-vigyan

दिल्ली के राजीव गांधी अस्पताल में कार्डियोलोजी डिपार्टमेंट के डॉ.अजीत जैन ने बताया कि कोरोना महामारी के बाद हार्ट अटैक के केस मामले बढ़े हैं। उन्होंने कहा कि जांच के बाद यह साफ हो गया कि कोविड के कारण ही आर्टरीज में खून के थक्के बन गए थे।जिसकी वजह से हार्ट को ब्लड पंप करने में परेशानी हो रही हैं और दिल का दौरा पड़ रहा है। क्लॉट बनने की एक बड़ी वजह कोरोना का साइड इफेक्ट है।

वही सफदरजंग हॉस्पिटल में कार्डियोलॉजिस्ट डॉ दीपक कुमार सुमन ने कहा कि जिन लोगों को कोरोना ने गंभीर रूप से बीमार किया था उन लोगों को हेवीवर्कआउट करने से बचना चाहिए। ऐसे लोगों को डॉक्टर की सलाह के हिसाब से ही एक्सरसाइज करनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि एक्सरसाइज के दौरान शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई बढ़ जाती है। ऐसे लंग्स पर प्रेशर पड़ता है और हार्ट भी तेजी से ब्लड पंप करने लगता है। अगर हार्ट में कोरोना की वजह या अन्य किसी कारण से ब्लड क्लॉट बना हुआ है तो हेवी एक्सरसाइज के दौरान हार्ट अटैक आने का खतरा है।